मरणोपरांत राजेश पटेल को मिल सकता है द्रोणाचार्य अवार्ड

दिल्ली:  बास्केटबाल खिलाडिय़ों के संघ ने केंद्रीय खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ से अपील की कि वह बास्केटबाल कोच राजेश पटेल को मरणोपरांत द्रोणाचार्य पुरस्कार देने पर विचार करें जिनका कुछ दिन पहले हो गया था. एकीकृत बास्केटबाल खिलाड़ी संघ ने पत्र में कहा- हम आपसे बास्केटबाल के सर्वश्रेष्ठ कोचों में से एक राजेश पटेल को मरणोपरांत द्रोणाचार्य पुरस्कार देने की अपील करते हैं जिनकी काम के दौरान ही मौत हो गई जब वह राष्ट्रीय जूनियर बास्केटबाल चैंपियनशिप के लिए ट्रेन से लुधियाना कि और जा रहे थे.

गौरतलब है कि बास्केटबॉल के अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी और कोच राजेश पटेल का निधन हरियाणा के पानीपत में हुआ था. राजेश पटेल टीम के साथ लुधियाना जा रहे थे तभी रास्ते में ही उनकी तबीयत बिगड़ गई और उनकी आकस्मिक निधन हो गया. छत्तीसगढ़ की महिला बास्केटबॉल टीम के कोच राजेश पटेल को बास्केटबॉल का द्रोणाचार्य कहा जाता था. राजेश पटेल की कोचिंग में टीम ने राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में अब तक 103 मेडेल जीते हैं. 

बता दें कि कोच राजेश पटेल की कोचिंग में छत्तीसगढ़ की बालिका बास्केटबॉल टीम ने लगभग हर वर्ग में सफलता का परचम लहराया था. इसका नतीजा ही है कि टीम ने 103 में से 69 गोल्ड, 12 सिल्वर व 22 ब्रॉंज मेडेल टीम के खाते में है.

टेनिस टूर्नामेंट में सिमोना हालेप ने जीत के साथ आगाज किया

के एल राहुल पर फ़िदा हुई खूबसूरत पाकिस्तानी लड़की

स्नूकर चैम्पियन की नग्न प्रेस वार्ता

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -