पाक की जीत का जश्न मनाने वाली नफीसा बोली- परिवार के लोगों ने भी ऐसा किया था ...

उदयपुर: राजस्थान के उदयपुर में नीरजा मोदी स्कूल ने शिक्षिका नफीसा अटारी को पाकिस्तान की भरत पर जीत का जश्न मनाने के लिए नौकरी से बर्खास्त कर दिया था। अब नफीसा ने बताया है कि उनके परिवार के अन्य लोगों ने भी पाकिस्तान का समर्थन किया था। उनके खिलाफ उदयपुर के अंबा माता पुलिस स्टेशन में IPC की धारा 153 बी के तहत प्राथमिकी भी दर्ज की गई है। बता दें कि नफीसा ने T-20 विश्व कप में भारत की शिकस्त और पाकिस्तान की जीत सेलिब्रेट की थी। जिसके बाद स्कूल ने उन्हें नौकरी से निकाल दिया।

अब नफीसा कह रहीं हैं कि उनके परिवार के कुछ अन्य सदस्य भी भारत के खिलाफ टी 20 वर्ल्ड कप के मुकाबले में पाकिस्तान की टीम का समर्थन कर रहे थे। नफीसा ने बताया कि भारत-पाकिस्तान मैच के दौरान उनका परिवार दो टीमों में विभाजित हो गया था और दोनों अपनी-अपनी टीम का समर्थन कर रहे थे। उनके मुताबिक, उनकी टीम पाकिस्तान का समर्थन कर रही थी, इसलिए उन्होंने जीत के बाद व्हाट्सएप पर स्टेटस लगाया था। उन्होंने दावा करते हुए कहा कि वे हकीकत में पाकिस्तान की टीम का समर्थन नहीं करती हैं। नफीसा ने अपने बयान में कहा की, 'हमारे परिवार के सदस्य 2 समूहों में बंटा हुआ था और उन्होंने अपनी टीमों का समर्थन किया। इसका मतलब यह नहीं है कि मैं पाक का समर्थन करती हूँ।'

दरअसल, 25 अक्टूबर को उदयपुर के नीरजा मोदी स्कूल की एक टीचर नफीसा अटारी का व्हॉट्सऐप स्टेटस सोशल मीडिया पर आग की तरह फैल गया था। इस पोस्ट में नफीसा अटारी ने पाकिस्तानी खिलाड़ियों की एक तस्वीर शेयर की थी, जिसमें लिखा था, 'जीत गए, हम जीत गए (Jeeeet gayeeee… We wonnn)”। इस पोस्ट के लिए नफीसा की जमकर आलोचना हुई थी।  

राष्ट्रीय सुरक्षा चिंताओं के कारण अमेरिका द्वारा रद्द किया गया चीन दूरसंचार लाइसेंस

यूपी ने खाद्य तेलों के भंडारण पर 1-25 टन तक की स्टॉक लगाई सीमा

मंत्री टी हरीश राव ने बीजेपी के घोषणापत्र का उड़ाया मज़ाक

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -