ATM को हैक कर दो महिलाओं ने उड़ाए 32 लाख रुपए, इस डिवाइस का करती थी इस्तेमाल

जयपुर: राजस्थान में स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप ने युगांडा और गांबिया से आई दो महिला अपराधियों को अरेस्ट किया है. दोनों महिलाओं ने रास्पबेरी पाई डिवाइस के जरिए बैंक ऑफ बड़ौदा का सर्वर हैक (Hack) कर ATM से 32 लाख रुपये उड़ा लिए थे. युगांडा की नानटोंगों अलेक्ज़ेंड्रस और गांबिया की लौरिया कैथ को अरेस्ट किया गया है. पुलिस ने बताया है कि ये दोनों सुबह 7 बजे से 9 बजे तक ATM हैक कर पैसे निकालती थीं. 

विदेश से दिल्ली आने के बाद यह जयपुर, कोटा और उदयपुर जाकर विभिन्न शहरों में पैसे निकाला करती थीं. ये अपनी लोकेशन बदलती रहती थीं, जिससे इनके भेद ना खुल सकें. इस प्रकार ATM हैक करने का देश में यह पहला केस है. स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप के ADG अशोक राठौड़ ने बताया है कि ये महिलाएं 14 जुलाई को जयपुर आ गई थीं और जुलाई तक विभिन्न इलाकों में घूम-घूमकर बत्तीस लाख रुपये निकाले थे. बैंक में तकनीकी खामी के कारण सर्वर आसानी से हैक हो गया, किन्तु अलर्ट नहीं आया. ये दोनों महिलाएं हर दिन भेष भी बदलती थीं, ताकि ATM में लगे CCTV कैमरे से इनकी शिनाख्त ना हो सके. 

बता दें कि सर्वर को हैक करने वाला रास्पबेरी पाई डिवाइस एक छोटे कम्प्यूटर और मदरबोर्ड की तरह होता है. इसें कमांड देने के लिए प्रोग्राम किया जाता है. इन दोनों महिलाओं ने इस डिवाइस को ATM में लगाकर वाई फ़ाई के माध्यम से मुख्य सर्वर से हटा दिया और फिर ATM का लोकल सर्वर बनाकर पैसा निकालने लगीं. लोकल सर्वर बनने के बाद इन महिलाओं की कमांड पर ही ATM काम कर रहा था. इन महिलाओं ने पहले ही पता लगा लिया था कि देश में कौन से ऐसे बैंक है जो पुराने मैनुअल सेटिंग सिस्टम पर कार्य कर रहे हैं और उन्हीं बैंकों के ATM को निशाना बनाया. पुलिस ने दोनों को अरेस्ट कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है. 

सिराज ने 'शिवम' बनकर हिन्दू लड़की को फंसाया, किया बलात्कार, अब्बू गफ्फार ने भी दिया साथ

एनसीबी ने पटना में मादक पदार्थों की तस्करी के आरोप में दो लोगों को किया गिरफ्तार

भाजपा नेता के माँ-बेटे की फावड़े से काटकर निर्मम हत्या, सीएम योगी के गृहनगर गोरखपुर का मामला

Most Popular

- Sponsored Advert -