राजस्थान : राज्य में अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए गहलोत सरकार ने किया यह काम

कोरोना वायरस के कहर की वजह से प्रदेश की बिगड़ी अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने एवं रोजगार के नये अवसर पैदा करने के लिए राजस्थान सरकार जापान, दक्षिण कोरिया,अमेरिका एवं आस्ट्रेलिया की कंपनियों को राज्य में निवेश के लिए आकर्षित करने में जुटी है. इसके लिए राज्य सरकार की ओर से बाकयदा कंपनियों को प्रस्ताव भेजा गया है. इन चारों देशों के भारत में राजदूतों को राज्य सरकार ने पत्र लिखकर प्रदेश में निवेश के लिए आमंत्रित किया है.

Survivor Winners at War : आखिर कौन है 2 मिलियन डॉलर राशि जीतने के करीब

इस कदम को लेकर राज्य के उघोग मंत्री परसादी लाल मीणा का कहना है कि करीब 1000 कंपनियां चीन छोड़कर भारत में निवेश करने पर विचार कर रही है. इनमें से 300 कंपनियां भारत में फैक्ट्री लगाने को लेकर गंभीरता से सोच रही है. राजस्थान सरकार चाहती है कि इनमें से अधिक से अधिक कंपनियां राज्य में निवेश करे. राजस्थान राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली के निकट होने के साथ ही अन्य आवश्यक संसाधनों के लिहाज से भी इन कंपनियों के लिए बेहतर साबित हो सकता है.

मज़दूरों की ज़िंदगी इतनी सस्ती क्यों ? भाजपा सरकार पर अखिलेश यादव का प्रहार

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि विदेशी कंपनियों के दिलचस्पी लेने पर राज्य सरकार दिल्ली के निकट के जिलों अलवर, भरतपुर, झुंझुनूं व जयपुर में नये औधोगिक क्षेत्र भी विकसित कर सकती है. उधोग विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ.सुबोध अग्रवाल ने अमरीका, दक्षिण कोरिया, जापान एवं आस्ट्रेलिया के राजदूतों को पत्र लिखकर यह भरोसा दिया है कि राज्य सरकार उन्हे हर तरह से मदद करेगी.

नशे का इंजेक्शन देकर डॉक्टर ने किया युवती का रेप

UFC : मुकाबले के दौरान टेक्सीरा ने तोड़े स्मिथ के दांत

Toyota Corolla GR हैचबैक इस साल हो सकती है लॉन्च, जानें संभावित फीचर

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -