प्रवासी मजदूरों के लिए गहलोत सरकार ने बनाया मेगा प्लान, जल्द शुरू होंगे 'कौशल कार्यक्रम'

Jul 10 2020 05:51 PM
प्रवासी मजदूरों के लिए गहलोत सरकार ने बनाया मेगा प्लान, जल्द शुरू होंगे 'कौशल कार्यक्रम'

जयपुर: राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार अन्य राज्यों से लौटे प्रवासी श्रमिकों के भविष्य को लेकर गंभीर है. राज्य के 22 जिलों में कौशल कार्यक्रम आरंभ होंगे. भारत सरकार की सहायता से यह कौशल पाठ्यक्रम 16 जुलाई से आरंभ होंगे. साथ ही राजकौशल पोर्टल के माध्यम से मजूदरों और उद्योगों की जरूरतों को एक मंच पर लाया जा रहा है. मुख्य सचिव राजीव स्वरूप ने फिक्की राजस्थान की स्किल समिट में उद्यमियों को संबोधित करते हुए कहा कि श्रमिकों को उनकी योग्यता और कौशल के अनुसार रोजगार देने की तैयारी है. 

जो प्रवासी श्रमिक अपनी कुशलता किसी विशेष क्षेत्र में बढ़ाना चाहते हैं, उन्हें ट्रेनिंग दी जाएगी. राज्य में कोशिश रहेगी की लॉकडाउन के बाद औद्योगिक उत्पाद की रफ्तार में सुधार हो, इसके लिए सभी कोषिष की जा रही हैं. फिक्की राजस्थान की तरफ से आयोजित किए गए तीसरे राजस्थान कौशल शिखर सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रूप में सम्बोधन देते हुए, मुख्य सचिव राजीव स्वरूप ने कहा कि सरकार लॉकडाउन और चरणबद्ध अनलॉक के बीच उद्योगों के समक्ष आने वाली चुनौतियों के संबंध में गंभीर है और आने वाले दिनों में उद्योगों को सामान्य स्थिति बहाल करने में सहायता करने के लिए कार्ययोजना बना रही है. 

नीतिगत प्रयासों, नवाचार और बेहतर प्रबंधन के साथ राज्य में औद्योगिक विकास और रोजगार के अवसरों को बढ़ा रहे हैं. उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर भारत अभियान को सिर्फ तकनीकी सहयोग के साथ वैश्विक स्तर पर प्रतिस्पर्धी उत्पादों और सेवाओं के निर्माण के साथ कुशल मानव संसाधन की दिशा में कदम बढ़ाने होंगे.

कोरोना काल में भी जमकर चांदी काट रहा फर्नीचर का कारोबार, जानिए क्या है वजह

कोरोना के सामुदायिक प्रसार पर बोले स्वास्थ्य मंत्री, कही चौंकाने वाली बात

तिरुवनंतपुरम में प्रदर्शनकारियों का दावा, कोरोना संक्रमितों की जाँच में बरती जा रही है लापरवाही