राजस्थान: दलित लड़की का अपहरण कर सामूहिक बलात्कार, थाना प्रभारी ने नहीं लिखी FIR

जयपुर: राजस्थान के भरतपुर से दलित लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला प्रकाश में आया है. बताया जा रहा है कि लड़की को पहले कॉलेज के गेट से किडनैप किया गया, इसके बाद जंगल में ले जाकर उसके साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया गया. घटना के बाद जब पीड़िता थाने में शिकायत देने पहुंची तो उच्चैन थाना प्रभारी श्रवण पाठक ने पीड़िता की प्राथमिकी दर्ज करने से इंकार कर दिया. इसके बाद पीड़िता पुलिस अधीक्षक देवेंद्र विश्नोई के पास पहुंची और पूरी घटना की जानकारी दी. इस पर कार्रवाई करते हुए पुलिस अधीक्षक ने शुक्रवार देर रात उच्चैन थाना अधिकारी को निलंबित कर दिया.

भरतपुर के एक कॉलेज में पढ़ने वाली 19 वर्षीय BA प्रथम वर्ष की छात्रा को कॉलेज के गेट के बाहर से ही गांव के दो युवक किडनैप कर बाइक पर उठा ले गए, जहां जंगल में जाकर दोनों युवकों ने छात्रा के साथ बारी बारी से बलात्कार किया और फिर उसे गांव के जंगल में छोड़ कर भाग गए. पीड़िता का आरोप है कि जब वो अपने परिवार वालों के साथ थाने में शिकायत दर्ज कराने पहुंची तो पुलिस ने उसकी शिकायत नहीं लिखी गई और SHO ने चिल्ला कर उन्हें भगा दिया.  

इस मामले पर जिला SP देवेंद्र कुमार विश्नोई ने बताया कि एक छात्रा के साथ बलात्कार हुआ था और जब वह थाने पहुंची तो थाना प्रभारी ने शिकायत दर्ज नहीं की. इस मामले में थाना प्रभारी की लापरवाही सामने आई है और पीड़िता ने मुझसे मिलकर शिकायत दी है. लापरवाही बरतने के मामले में थाना प्रभारी को सस्पेंड कर दिया गया है. मामले की छानबीन उप जिला पुलिस अधीक्षक को सौंपी गई है. 

अश्लीलता का आरोप लगने के बाद ट्रेन के सामने कूदा शख्स, गई जान

महिला के सामने ही हस्तमैथुन करने लगा OLA ड्राइवर, कंपनी ने मांगी माफ़ी

इंसानियत शर्मसार: अंधविश्वास के चलते पिता ने कर दिए बेटे के 7 टुकड़े

Most Popular

- Sponsored Advert -