राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा- सेवा ही मेरे जीवन का एकमात्र उद्देश्य

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा- सेवा ही मेरे जीवन का एकमात्र उद्देश्य

जोधपुर: राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने कहा है कि आमजन की सेवा ही मेरे जीवन का एकमात्र उद्देश्य है और गांधीजी के वचन मेरे जीवन का ताबीज हैं। इसी वजह से मैं पूरे आत्मविश्वास से काम कर पा रहा हूं। गहलोत ने कहा कि मुझे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का यह कथन हमेशा याद रहता है कि 'जब भी कोई फैसला करें तो गरीब को ध्यान में रखकर कि उस फैसला से गरीब पर क्या असर होगा।'

दरअसल, सीएम गहलोत मंगलवार को जोधपुर में समाजसेवी स्व. भगवान सिंह परिहार मार्ग के लोकार्पण समारोह में मौजूद लोगों को संबोधित कर रहे थे। सीएम गहलोत ने मानवता को समर्पित स्व. भगवान सिंह परिहार की स्मृतियों को जीवंत करते हुए कहा कि उनके कामों से ही उनका नाम जनता के दिलों में बसता है। स्व. परिहार ने लगभग एक हजार निराश्रित बच्चों को पाला-पोषा, पढ़ाया और उनकी शादियां की। स्व. परिहार का जीवन संघर्ष से भरा था, किन्तु अपनी मेहनत व उद्यम की वजह से वे विरले लोगो में शुमार हैं। उनके नाम से मार्ग का नामकरण होना पीढ़ियों तक प्रेरणा देगा।

सीएम गहलोत ने कहा कि संस्कार और सादगी ही जीवन का सार है। गहलोत ने कहा कि जीवन क्षणभंगुर है, इसलिए स्वार्थ के लिए झगड़ना सही नहीं है। वही समाज उन्नति करता है, जहां प्रेम व अपनापन हो। स्वार्थ जीवन की शांति छीन लेता है। स्व. भगवानसिंह जी का जीवन आने वाले काफी समय तक हमें निस्वार्थ भाव से सेवा करने की प्रेरणा देता रहेगा।

​बिल्कुल स्वर्ण मंदिर की तरह दिखाई देता है यह पूजा पंडाल, सिख समुदाय ने लगाया गंभीर आरोप

अमित शाह ने बनाया नया मास्टर प्लान, अपने नेताओं को कश्मीर में इस काम को करने के दिए निर्देश

अफ़्रीकी देशों के दौरे पर जाएंगे उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, 10 अक्टूबर से शुरू होगी यात्रा