रामकथा के दौरान आया जोरदार अंधड़, टेंट गिरने से 14 लोगों की मौत

Jun 24 2019 08:32 AM
रामकथा के दौरान आया जोरदार अंधड़, टेंट गिरने से 14 लोगों की मौत

जयपुर: राजस्थान के बाड़मेर जिले में रविवार को एक धार्मिक आयोजन के दौरान पंडाल गिरने से 14 श्रद्धालुओं की मौत हो जाने की खबर सामने आई है, मरने वालों में तीन महिलाएं भी शामिल हैं. इस हादसे में तक़रीबन 50 लोग घायल हुए हैं. देशभर के नेताओं ने इस हादसे पर दुख जाहिर किया है. राजस्थान सरकार ने हादसे में मारे गए लोगों के परिवार वालों को 5-5 लाख रुपये और घायलों को 2-2 लाख रुपये की आर्थिक मदद देने का ऐलान किया है.

पीएम नरेंद्र मोदी समेत अनेक नेताओं ने हादसे पर शोक व्यक्त किया है. रविवार अपरान्ह यह हादसा उस वक़्त हुआ जब बालोतरा कस्बे के पास जसोल धाम में एक स्कूल के परिसर में रामकथा चल रही थी. तभी अंधड़ और बारिश के चलते पंडाल नीचे श्रद्धालुओं पर आ गिरा. सैंकड़ों श्रद्धालुओं को बाहर निकलने का मौका नहीं मिल पाया और वे नीचे दब गए. बालोतरा सीमावर्ती बाड़मेर जिले का एक कस्बा है.

कथाकार मुरलीधर महाराज रामकथा सुना रहे थे, इसी दौरान बारिश और तेज अंधड़ शुरू हो गई. अंधड़ इतना जबरदस्त था कि पूरा टेंट हवा में लहराने लगा. कथावाचक ने लोगों को आगाह करते हुए बाहर निकलने के लिए कहा था, किन्तु कुछ ही सेकंड में पूरा टेंट नीचे आ गिरा. सैकड़ों श्रद्धालु नीचे दब गए. प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक टेंट के लोहे के खंबों में बिजली का करंट भी दौड़ गया, किन्तु स्थानीय लोगों ने जैसे तैसे कर घायलों को बाहर निकाला और अस्पताल पहुंचाया.

योग दिवस पर ट्वीट करके बुरे फंसे राहुल गाँधी, दर्ज हुई शिकायत

सिद्धांत को जब मैन इन ब्लैक एक्टर क्रिस हेमस्वॉर्थ ने कहा 'बहुत हार्ड'..

भाजपा नेता बोले, बाबा रामदेव की वजह से योग को दुनिया में मिली पहचान