दर्दनाक: 4 घंटे की बच्ची को चूहों ने कुतरा, कान भी कर दिया गायब

जयपुर: जयपुरिया अस्पताल (Jaipuria Hospital) इमरजेंसी के बाहर कुछ ऐसा हुआ जिसे देखने वाले हर व्यक्ति के होश उड़ गए। जी दरअसल, यहाँ जन्म के 4 घंटे बाद ही नवजात बच्ची को उसके परिवार ने रात के करीब तीन-चार बजे लावारिस छोड़ दिया। कुछ ही देर में ही बिना कपड़ों के पड़े नवजात को चूहों ने कुतरना शुरू कर दिया। बताया जा रहा है इस बीच नवजात की दर्द भरी चीख गूंजती रही लेकिन उन्हें सुनने वाला कोई नहीं था। खबरों के अनुसार नवजात के शरीर पर 18 घाव मिले है और उसका एक कान तो चूहों ने काट दिया।

नवजात को सुबह देखा गया और इसके बाद पुलिस और अस्पताल को सुचना दी गई। हालाँकि तब तक नवजात की जान जा चुकी थी। बीते शनिवार देर शाम तक नवजात का शव मोर्चरी में रखवाया गया और पुलिस अब सीसीटीवी कैमरों की तलाश कर रही है। नवजात केवल 4 घंटे की थी और उसकी जान उसके परिजनों ने ले ली। बताया जा रहा है जयपुरिया अस्पताल के इमरजेंसी गेट के बाहर चूहों के कुतरने से 4 घंटे की बच्ची का शनिवार को पोस्टमार्टम नहीं कराया जा सका। केवल यही नहीं बल्कि पुलिस दिनभर कैमरों को भी नहीं खंगाल सकी। वहीं अस्पताल के बाहर जहां बच्ची को रखा गया था, वहीं कैमरे लगे हैं और कैमरे जेडीए ने लगवाए हैं।

इस मामले में अस्पताल प्रशासन ने जानकारी पुलिस को दी और बजाज नगर पुलिस मौके पर पहुंची और बच्ची के शव को मोर्चरी में रखवा दिया। इस मामले में पुलिस जल्द कैमरों में बच्ची को रखने वालों की तलाश करेगी फिर पोस्टमार्टम कराया जाएगा। इस पूरे मामले को लेकर जयपुरिया अस्पताल के अधीक्षक डॉ। अशोक गुप्ता का कहना है, 'जयपुरिया अस्पताल के बाहर कोई नवजात को छोड़ गया। बच्ची के काम और कुछ जगहों पर जानवरों के काटने के निशान मिले हैं। पोस्टमार्टम के लिए शव को मोर्चरी में रखा गया है। जडीएम के कैमरों से दोषियों को तलाश की जा रही है। किसी को बच्ची को नहीं रखना था तो अस्पताल में छोड़ जाता।'

पीट-पीटकर कर डाली भाजपा कार्यकर्ता की हत्या

टेक्सास में एस्ट्रोवर्ल्ड फेस्टिवल में हुई गोलीबारी, 8 लोगों की हुई मौत

बैंक अकाउंट में सरकार ने भेजें 1100 रुपये!

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -