जोधपुर मेडिकल कॉलेज के स्टूडेंट ने लगाई फांसी, सुसाइड नोट में लिखी ये बात

Mar 01 2021 01:20 PM
जोधपुर मेडिकल कॉलेज के स्टूडेंट ने लगाई फांसी, सुसाइड नोट में लिखी ये बात

जयपुर: राजस्थान के जोधपुर में डॉक्टर SN मेडिकल कॉलेज में एक छात्र ने फंदा लगाकर ख़ुदकुशी कर ली. वह MBBS फाइनल ईयर का स्टूडेंट था. छात्र के पास एक सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें उसने लिखा है कि मैं पिछले 2 महीने से काफी परेशान हूं. अब मैं और नहीं जी सकता. जालौर जिले के रामसीन का रहने वाला गेनाराम देवासी शनिवार शाम 7:30 बजे अंतिम बार अपने साथी विद्यार्थियों से मिला था. 

बताया जा रहा है कि इस दौरान वह बाजार से एक रस्सी खरीदकर लाया था. उसके बाद उसने खुद को कमरे में बंद कर लिया. छात्र का रूम पार्टनर उसका नजदीक का रिश्तेदार है. रूम पार्टनर जब पहुंचा तो कमरा भीतर से बंद था. खटखटाने पर जब दरवाजा नहीं खुला तो आखिरकार कुछ विद्यार्थियों ने मिलकर दरवाजा तोड़ दिया. सामने गेनाराम पंखे से लटका हुआ मिला. इसके बाद इस मामले की जानकारी मेडिकल कॉलेज के प्रबंधन को दी गई. मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ जी एल मीणा, यूजी हॉस्टल के वार्डन और अन्य डॉक्टर घटनास्थल पर पहुंचे. साथ ही इस मामले की सूचना पुलिस को दी गई. सूचना मिलते ही शास्त्री नगर की पुलिस मौके पर पहुंची. 

पुलिस की उपस्थिति में गेनाराम का शव को नीचे उतारा गया. कमरे से एक सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें गेनाराम ने लिखा है कि ''मम्मी, पापा और चाचू सॉरी, मैं पिछले 2 महीने से बहुत परेशान हूं. अब मैं और नहीं जी सकता.'' हॉस्टल के छात्रों ने बताया कि गेनाराम बीते कई दिनों से मानसिक रूप से परेशान चल रहा था, जिसके कारण उसने इस बार एग्जाम भी नहीं दिए. मगर किसी ने यह नहीं सोचा था कि वह इतना बड़ा कदम उठा लेगा. फिलहाल, शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर पुलिस मामले की पड़ताल में जुट गई है.

आज लगातार दूसरे दिन स्थिर रहे पेट्रोल-डीजल के दाम, जानिए आपके शहर में क्या है भाव

निफ्टी में 700 अंक की हुई बढ़ोतरी

बाजार इस सप्ताह के माध्यम से स्टॉक पर होगी कड़ी नज़र