7 अगस्त तक टली राज कुंद्रा की बेल की सुनवाई

अश्लील कंटेंट बनाने और बेचने के मामले में राज कुंद्रा को इस समय न्यायिक हिरासत में रखा गया है। ऐसे में अब भी उन्हें राहत मिलती नजर नहीं आ रही है। जी दरअसल राज कुंद्रा ने न्यायिक हिरासत के फैसले को चुनौती देते हुए बॉम्बे हाई कोर्ट में जमानत अर्जी दाखिल की थी हालाँकि उस पर सुनवाई नहीं हो सकी है। जी दरअसल बॉम्बे हाई कोर्ट में आज इस मामले की सुनवाई हुई और उसके बाद जस्टिस गड़करी ने राज कुंद्रा की जमानत अर्जी की सुनवाई को 7 अगस्त तक के लिए टाल दिया है। अब इस मामले में अगली सुनवाई 7 अगस्त को की जाएगी। इस मामले में मिली जानकारी के तहत सरकारी वकील अरणा पाई द्वारा कोर्ट में राज कुंद्रा की गिरफ्तारी को लेकर एक के बाद एक कई दलील दी गईं।

बताया जा रहा है इन दलीलों में उन्होंने कोर्ट को बताया कि मुंबई क्राइम ब्रांच को राज कुंद्रा और उनके सहयोगियों के खिलाफ हॉटशॉट और बॉली फेम ऐप पर आपत्तिजनक कंटेंट बनाने और स्ट्रीम करने के सबूत मिले हैं। उनकी इस मामले में संलिप्तता रही है। इसी के साथ उन्होंने यह भी कहा कि- 'जांच तब शुरू हुई जब उमेश कामत ने राज कुंद्रा और रयान थोर्पे के खिलाफ कुछ तथ्यों का खुलासा किया। रयान थोर्पे, राज कुंद्रा की कंपनी के आईटी हेड हैं।' इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा, ''हमने राज कुंद्रा के ऑफिस की छानबीन की। वहां उस समय थोर्पे भी मौजूद था। वहां पर कई चीजें मिलीं। शुरुआत में 41ए नोटिस दिया गया था, जिसे राज कुंद्रा ने स्वीकार नहीं किया था, लेकिन थोर्पे ने उसे स्वीकारा था।

अरुणा पाई ने कोर्ट से आगे कहा कि 'राज कुंद्रा से नोटिस साइन करने के लिए कहा गया था, लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया और सहयोग भी नहीं किया था। ऑफिस से कई आपत्तिजनक सामग्री मिली थीं। नोटिस जारी करने के बाद वे लोग जानना चाहते थे कि वे गिरफ्तार होने वाले हैं या नहीं।'' इसी के साथ उन्होंने अपनी दलील में यह भी कहा कि, 'यह गिरफ्तारी इसलिए की गई क्योंकि इन लोगों ने व्हाट्सएप ग्रुप से मैसेज डिलीट करना शुरू कर दिया था। वे सबूत मिटा रहे थे। हम नहीं जानते कि क्या यह सब हटा दिया गया है। फिलहाल, जांच जारी है। पुलिस उन्हें रीवाइव करने की कोशिश कर रही है। ऑफिस में मिले एक लैपटॉप से हार्ड डिस्ट बरामद हुई, जिसमें 68 अडल्ट वीडियो थे। साथ ही एक पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन भी मिली थी, जिसमें हॉटशॉट एप की डिटेल पाई गईं।'

TikTok स्टार पूजा चव्हाण सुसाइड केस में जुड़ा शिवसेना नेता का नाम, फ़ोन पर होती थी लंबी बातें।।

केरल विपक्ष ने शिक्षा मंत्री शिवनकुट्टी के खिलाफ किया अनुशासित विरोध प्रदर्शन

KKK11:सौरभ राज जैन के एलिमिनेशन से नाराज हुईं पत्नी, कहा- 'क्या ये न्याय है?'

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -