हिमाचल में बर्फ़बारी के बाद अब भारी बारिश ने मचाई तबाही

शिमला : प्रदेश में भारी बर्फबारी के साथ-साथ बारिश ने तबाही मचा दी है। मौसम विभाग की चेतावनी के बीच राज्य के कई इलाकों में भारी बारिश हो रही है। इसके चलते नदी-नाले उफान पर हैं। कुल्लू जिला में भारी बारिश से व्यापक नुकसान हुआ है। कुल्लू शहर में मूसलाधार बारिश से पानी लोगों के घरों और दुकानों में घुस गया। जिला में भूस्खलन से कुल्लू-मनाली मार्ग के साथ 50 से अधिक सड़कें बंद हैं। कई इलाकों में बिजली गुल है। 

महाराष्ट्र : बोरवेल में गिरे बच्चे को एनडीआरएफ ने सुरक्षित निकाला

बंद रहेंगे सभी स्कूल 

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिला किन्नौर में हिमस्खलन से शोंगटोंग-बारंग सड़क बंद है। करछम-सांगला-छित्तकुल सड़क सांगला तक खुली है। भूस्खलन से वांगतु से यंगपा सड़क, यंगपा से करबा और वांगतु से पवानी सड़क बंद पड़ी है। हिमस्खलन की वजह से कर करछम-शोंग सड़क बंद है। भूस्खलन के चलते शोंगटोंग-पुवारी सड़क भी बंद है।  जिला कुल्लू में हो रही भारी बारिश और बर्फबारी को देखते हुए 21 फरवरी तक सभी शैक्षणिक संस्थान बंद रखने का फैसला लिया गया है। डीसी ने इसकी पुष्टि की है। 

गश्त पर निकले सेना के छह जवान भारी हिमस्खलन में दबे, सर्चिंग जारी

आगे ऐसा रहेगा मौसम 

जानकारी के लिए बता दें राज्य में भारी बारिश और बर्फबारी से करीब 200 सड़कों पर वाहनों की आवाजाही बंद है। कई इलाकों में बिजली गुल है। इससे लोगों की परेशानियां बढ़ गई हैं।चंबा जिले में भी मूसलाधार बारिश का क्रम जारी है। जिले में भारी बारिश से जगह-जगह भूस्खलन हुए है। दर्जन भर सड़कें बंद हैं। मौसम विभाग ने भी कुल्लू, लाहौल, किन्नौर, चंबा, शिमला और मंडी के पहाड़ी क्षेत्रों में प्रशासन ने अलर्ट जारी कर दिया है। 26 फरवरी तक प्रदेश में मौसम खराब रहने का पूर्वानुमान है। 

केंद्र सरकार की इस महत्वपूर्ण योजना के बाद अब कम होगा बच्चों के स्कूल बैग्स का वजन

दो दिवसीय दौरे पर दक्षिण कोरिया पहुंचे पीएम मोदी

हरियाणा के झज्जर में कार को दूर तक घसीटता हुआ ले गया ट्रक, हादसे में 4 की मौत

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -