ठंड के बीच महाराष्ट्र सहित भारत के इन क्षेत्रों में हो सकती है बारिश

मुंबई: उत्तर भारत के अधिकांश राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में सर्दी बढ़ते हुए नजर आ रही है। इसी के साथ ही देश के कई क्षेत्रों में भी ठंड तेजी से बढ़ने लगी है। इन सभी के बीच भारत मौसम विज्ञान विभाग द्वारा कल यानी सोमवार के लिए महाराष्ट्र के दो जिलों में येलो अलर्ट जारी किया गया है। आप सभी को बता दें कि आईएमडी का कहना है बेमौसम बारिश पूर्वी अरब सागर के ऊपर एक कम दबाव के क्षेत्र के कारण हुई थी। वहीं आज मौसम विभाग ने महाराष्ट्र के दो जिलों में येलो अलर्ट जारी किया है।

इसी के साथ यह कहा गया है कि पूर्वी अरब सागर के ऊपर 50-60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार और 70 किमी प्रति घंटे की रफ्तार के साथ तेज मौसम की संभावना है, इस कारण महाराष्ट्र के तटों बाहरी क्षत्रों में सात नवंबर से 40-50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से लेकर 60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलेगी। केवल यही नहीं बल्कि आईएमडी ने मछुआरों को इन क्षेत्रों में न जाने की सलाह दी है। आप सभी को बता दें कि, पूर्वी मध्य और उससे सटे दक्षिणपूर्व अरब सागर के ऊपर एक निम्न दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। जी दरअसल यह आज शाम तक गहरे निम्न दबाव में और सशक्त हो सकता है और अगले 24 घंटों में एक डिप्रेशन में बदल सकता है।

वहीं इसके भारतीय तट से दूर पश्चिम उत्तर-पश्चिम दिशा में आगे बढ़ने की उम्मीद है। इसी के साथ यह भी कहा जा रहा है संबद्ध चक्रवाती परिसंचरण औसत समुद्र तल से 5.8 किमी तक फैला हुआ है और एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र आंध्र प्रदेश तट के पास पश्चिम मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर समुद्र तल से 5.8 किमी तक फैला हुआ है। अब कल यानी सोमवार तक महाराष्ट्र और गोवा में छिटपुट बारिश और गरज के अनुमान है। कल यानी सोमवार को बंगाल की खाड़ी और उससे सटे अंडमान सागर के ऊपर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बनने का अनुमान है। इसी के साथ केरल, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और कर्नाटक में भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने ‘येलो अलर्ट’ जारी किया है।

भारतीयों में छाया Vocal for local का खुमार, दिवाली पर करोड़ों का कारोबार

यूजर्स हों जाए सावधान अमेज़न जल्द बंद करने जा रहा है ये सुविधा

केंद्र सरकार ने लिया ये अहम फैसला

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -