सफर के दौरान मिलेगी हॉस्पीटल जैसी सुविधा

रांची। अब चिकित्सकीय आवश्यकता होने या फिर रेल के सफर के दौरान मरीज को अस्पताल में भर्ती करवाने के लिए लोगों को मशक्कत नहीं करना पड़ेगी। इमरजेंसी में रेलवे द्वारा रिलीफ मडिकल वैन चलाई जाएगी जो कि जरूरत पड़ने पर मरीज के पास ही पहुंच जाएगी। इस तरह का प्रयास झारखंड राज्य के हटिया से गंगाघाट स्टशन तक नज़र आएगा। जिसके तहत चलने वाली ट्रेन 75 किलोमीटर की स्पीड से चलेगी। यही नहीं इस दौरान 52 किलोमीटर के ट्रायल में भी यह परीक्षण सफल रहा।

रेल का नाम सेल्फ प्रोपेल्ड ऑक्जीलरी रिलीफ मेडिकल वैन रखा गया है। दरअसल यह उपचार की ऐसी आाधुनिक सुविधाओं से युक्त है। जिसमें ऑपरशन थियेटर भी शामिल किया गया है। दुर्घटना होने पर यह ट्रेन 10 मिनट में घटनास्थल पर पहुंच सकेगी। रेलवे द्वारा इस ट्रेन को उपयुक्त बता दिया गया है।

इस रेल सेवा के कोच में ड्रायविंग कैब है तो एक में एसी ऑपरेशन थियेटर यही नहीं चिकित्सकों के चेंबर भी शिमल हैं जिससे मरीजों को ठीक तरह से रखा जा सकता है। इस रेलवे कोच में किचन भी है। दरअसल यह कोच इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि यदि रेलवे बोगी पटरी से उतर जाती है तो इसे पटरी पर लाने क लिए एयर बैग से बोगी उठाई जा सकेगी।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -