Volkswagen के कार्यालय पर पड़ा छापा

बर्लिन : हाल ही में जर्मन वाहन निर्माता कंपनी वॉक्सवैगन के वोल्फ्सबर्ग स्थित मुख्यालय तथा अन्य कार्यालयों पर जांचकर्ताओं के द्वारा छापा मारा गया है. इस बारे मे जर्मनी के लोक अभियोजन कार्यालय के द्वारा जानकारी सामने आई है. बताया जा रहा है कि यहाँ जांचकर्ताओं ने डीजल गाड़ियों के उत्सर्जन में हुई गड़बड़ी को ध्यान में रखते हुए दस्तावेजों और आंकड़ों के लिए कार्यालय की तलाशी ली. और इस दौरान यहाँ तीन अभियोजकों के साथ ही लोअर सैक्सोनी प्रांत की अपराध जांच कार्यालय के कुछ लोग भी मौजूद थे.

गौरतलब है कि कम्पनी की गाड़ियों में गड़बड़ी सामने आई थी और इसके बाद नागरिकों की शिकायते आना शामिल हो गई थी जिसे लेकर सितम्बर माह के आखिर तक इसकी जाँच भी शुरू कर दी गई. गौरतलब है कि वॉक्सवैगन के द्वारा डीजल कारों में अमेरिकी पर्यावरण एजेंसी डिफीट डिवाइस लगाई गई थी जोकि उत्सर्जन को धोखा देने के काम आती है, और इस डिवाइस से दुनियाभर की करीब 1.1 करोड़ करें प्रभावित होने का आरोप लगाया गया है. इस आरोप के चलते कमपनी ने जुर्माना भरने के लिए 18 अरब डॉलर को अलग कर दिया जिसे कम्पनी की निवेश योजना भी प्रभावित होते हुए नजर आई है.

मामले में जर्मनी के आर्थिक मंत्री ने कम्पनी को चेतावनी देते हुए यह भी कहा है कि वॉक्सवैगन को इस गड़बड़ी के जिम्मेदार लोगों के नाम सामने लाने चाहिए ताकि जिन लोगों ने इस कारनामे को अंजाम दिया है उसका हर्जाना अन्य कर्मचारियों को ना भुगतना पड़े.

- Sponsored Advert -

Most Popular

मुख्य समाचार

- Sponsored Advert -