संसद में राहुल का बयान, शैतान जैसा प्रवचन था: वेंकैया नायडू

Apr 21 2015 03:49 PM
संसद में राहुल का बयान, शैतान जैसा प्रवचन था: वेंकैया नायडू
style="text-align: justify;">नई दिल्ली : भूमि अधिग्रहण बिल को लेकर जहां राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार समर्थन जुटाने में लगी है वहीं कांग्रेस अपने सहयोगी संगठनों के साथ केंद्र सरकार के इस बिल की खामियां निकालने में लगी हुई है। कांग्रेस के सांसदों ने इस बिल का जमकर विरोध किया। इस दौरान कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने सदन में अपना बयान दिया, संसद में हुई बहस के दौरान संबोधित करते हुए सांसद राहुल गांधी ने सरकार द्वारा उद्योगपतियों का ध्यान रखने और किसानों की उपेक्षा किए जाने की बात कही। इस दौरान केंद्रीय मंत्री एम. वैंकेया नायडू ने सांसद गांधी के बयान को शैतान के प्रवचन की तरह बताया। 
 
केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री एम. वैंकेया नायडू ने कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने जिस तरह से अपना उद्बोधन दिया उससे तो यही लगता है कि वे अपने झूठ को साबित करने का प्रयास कर रहे थे। मगर एक झूठ दस बार बोलने से सच नहीं हो जाता, उन्होंने कहा कि शैतान का प्रवचन एक कहावत है और राहुल का बयान भी कुछ ऐसा ही था। केंद्र सरकार इस बिल को पारित करने से पीछे नहीं हटने वाली है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का व्यवहार उस बिल्ली जैसा है जो सौ चूहे खाने के बाद हज को जाती है। 
 
केंद्रीय मंत्री एम. वैंकेया नायडू ने कहा कि कांग्रेस की सरकारें अध्यादेश पर चलती रही हैं। नायडू ने कहा कि अध्यादेश लाने के मामले में कांग्रेस का रिकाॅर्ड सबसे अधिक खराब रहा है। यही नहीं बीते 50 वर्षों में कांग्रेस की सरकारें ने 456 अध्यादेश जारी किए। राहुल को कुछ स्टडी करनी होगी।