इस्तीफे की जिद पर अड़े राहुल, क्या फिर से सोनिया संभालेंगी पार्टी की कमान ?

इस्तीफे की जिद पर अड़े राहुल, क्या फिर से सोनिया संभालेंगी पार्टी की कमान ?

नई दिल्ली: कांग्रेस के भीतर विरोधाभास खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं की तमाम कोशिशों के बाद भी राहुल गांधी पार्टी अध्यक्ष पद पर बने रहने को राजी नहीं हैं। ऐसे में कांग्रेस में सभी फैसले रुके पड़े हैं। यहां तक कि पार्टी के प्रवक्ता तक सभी मसलों पर चुप्पी साधना ही सही समझ रहे हैं। पार्टी का मीडिया विभाग भी बस नाम के लिए कार्य कर रहा है।  

पार्टी की प्रेस वार्ता भी गाहे बगाहे ही हो रही हैं। भविष्य में क्या होगा, इसको लेकर सभी असमंजस में हैं। सूत्रों की मानें तो अब तक कई प्रदेशों में पार्टी के नए अध्यक्षों की नियुक्ति हो जानी चाहिए थी। साथ ही लोकसभा में मिली हार के बाद उभरने के लिए नए सिरे से रणनीति निर्धारित करके आगे बढ़ना चाहिए था। महाराष्ट्र, हरियाणा, दिल्ली, झारखंड और जम्मू-कश्मीर में इस वर्ष विधानसभा के चुनाव प्रस्तावित हैं, किन्तु पार्टी शांत बैठी है। ऐसे में पार्टी अब आगे बढ़ने के सिलसिले में विचार करने को विवश हुई है।

दरअसल, कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद छोड़ने की बात की थी, जिसे कार्यसमिति ने सिरे से नकार दिया था। किन्तु राहुल गांधी अपनी बात पर अड़ गए थे। हालांकि, पार्टी के पूर्व सचिव प्रवीण डावर ने कहा है कि, ‘कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को गांधी परिवार की तरफ ही देखने की आदत है, ऐसे में वो कार्यसमिति से आग्रह करते हैं कि राहुल को पद पर बने रहने के लिए राजी किया जाए, फिर भी अगर वे नहीं मानते तो दोबारा सोनिया गांधी को अध्यक्ष बना दिया जाए और उनके सहयोग के लिए दो-तीन कार्यकारी अध्यक्ष बना दिए जाए।’  

अब बिना पुरुष के ही बच्चों को जन्म दे सकेगी महिलाएं, रिपोर्ट में हुआ खुलासा

पांडाल हादसा: जसोल पहुंचे सीएम गहलोत, मृतकों के परिजनों से की मुलाकात

अब दुर्गा पूजा समितियों से ममता का किला ढहाने की कवायद में भाजपा