'आरोग्य सेतु एप प्राइवेसी के लिए खतरा..., सरकार की मंशा पर राहुल ने फिर उठाए सवाल

नई दिल्ली: पूरे देश में कोरोना वायरस का प्रकोप लगातार बढ़ता ही जा रहा है. इस बीच सरकार के माध्यम से लगातार लोगों से आरोग्य सेतु ऐप मोबाइल में डाउनलोड करने का आग्रह किया जा रहा है. लेकिन इस दौरान कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने आरोग्य सेतु ऐप पर सवाल खड़े कर दिए हैं. 

दरअसल, आरोग्य सेतु ऐप को प्राइवेट और सरकारी कर्मचारियों के लिए अनिवार्य कर दिया गया है. इस बीच कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने आरोग्य सेतु ऐप पर सवाल उथाते हुए कहा है कि इस ऐप से डेटा सुरक्षा और गोपनीयता संबंधी चिंताएं बढ़ती हैं. राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए कहा है कि, 'आरोग्य सेतु ऐप एक जटिल निगरानी प्रणाली है, जो एक प्राइवेट ऑपरेटर के लिए आउटसोर्स है, जिसमें कोई संस्थागत निरीक्षण नहीं है. इससे गंभीर डेटा सुरक्षा और गोपनीयता संबंधी चिंताएं बढ़ती हैं. तकनीक हमें सुरक्षित रखने में सहायता कर सकती है, किन्तु नागरिकों की सहमति के बगैर उनको ट्रैक करने के लिए डर का लाभ नहीं उठाया जाना चाहिए.'

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आरोग्य सेतु ऐप को कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में बेहद महत्वपूर्ण बता चुके हैं. यही नहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कई मौकों पर देशवासियों से आरोग्य सेतु ऐप को मोबाइल में डाउनलोड करने की अपील कर चुके हैं. ऐसे में राहुल गाँधी का ये बयान, जनता में भ्रम पैदा की स्थिति पैदा कर सकता है, जिसका सीधा प्रभाव कोरोना के खिलाफ जारी जंग पर पड़ेगा.

 

आखिर क्यों सीएम अशोक गहलोत नजर आए खुश ?

स्वीडन में मिला बलूच पत्रकार का शव, करता था पाक सरकार की आलोचना

अजित पवार पर फिर मंडराया संकट, ED ने खोला सिंचाई विभाग घोटाले का केस

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -