राहुल के SPG गार्ड्स ने पायलट से लाइसेंस मांगा, 45 मिनट देर हुई फ्लाइट

नई दिल्ली : दिल्ली से वाराणसी के लिए उड़ान भरने वाली इंडिगो की एक फ्लाइट के पायलट उस समय सकते में आ गए जब राहुल गांधी के एसपीजी गार्ड्स द्वारा पायलट से लाइसेंस दिखाने की मांग की गई. यही नहीं उन्होंने कॉमर्शियल फ्लाइट के इंधन की जांच की मांग भी की. इस वजह से फ्लाइट ने 45 मिनट देरी से उड़ान भरी.

घटना 14 सितंबर की है, जब इंडिगो की एक फ्लाइट सुबह 8.55 बजे दिल्ली से उड़ान भरने वाली थी. एक क्रू मेंबर्स ने बताया कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के एसपीजी गार्ड्स के इस व्यवहार पर पायलट सकते में आ गए और उन्होंने एसपीजी गार्ड्स को एयरलाइन कंपनी से लाइसेंस मांगने को कहा. पायलट्स को लगा कि एसपीजी उनका लाइसेंस चेक करने के लिए अधिकृत नहीं हैं. फ्यूल की जांच सही पाए जाने के बाद ही फ्लाइट ने उड़ान भरी.

इस बारे में वीआईपी के साथ लंबे समय से उड़ान भरने वाले एक वरिष्ठ पायलट ने कहा संभवत: इससे पहले ऐसी मांग कभी नहीं कि गई .वीआईपी के स्पेशल फ्लाइट के लिए एक प्रोटोकॉल है, जिसके तहत एयर इंडिया और एयर फोर्स अपने बेस्ट पायलट की तैनाती करती है, लेकिन जब वीआईपी कॉमर्शियल फ्लाइट में सफर करते हैं तो सुरक्षा अधिकारी पायलट के लाइसेंस नहीं देखते. एयरलाइन अधिकारियों के लिए भी यह मामला चौंकाने वाला था, लेकिन एसपीजी के शामिल होने की वजह से कोई भी इस मामले पर सामने आकर टिप्पणी करने से बच रहा है.

अच्छे दिन से परेशान हो गई है भाजपा

फट गया सपा का टायर, अब भंगार हो जायेगी साइकिल

यूपी में बीजेपी का चुनावी शंखनाद, शाह का कांग्रेस पर निशाना

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -