भाजपा कहती है 'मेक इन इंडिया', लेकिन करती है 'बाय फ्रॉम चायना' - राहुल गाँधी

भाजपा कहती है 'मेक इन इंडिया', लेकिन करती है 'बाय फ्रॉम चायना' - राहुल गाँधी

नई दिल्ली. पूर्वी लद्दाख स्थित गलवान में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) को लेकर भारत-चीन के बीच चल रहे विवाद के बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने चीन से माल आयात करने पर केंद्र की सत्ताधारी भाजपा को घेरा है. भारत-चीन विवाद के बीच राहुल ने दावा किया है कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार के दौरान चीन से इम्पोर्ट कम हुआ, जबकि भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाली NDA सरकार के कार्यकाल के दौरान चीन से खरीददारी यानी आयात अधिक हुआ.

कांग्रेस सके पूर्व अध्यक्ष राहुल ने ट्विटर पर एक ग्राफ साझा करते हुए लिखा है, 'भाजपा कहती है मेक इन इंडिया, लेकिन करती है बाय फ्रॉम चाइना.' ग्राफ के माध्यम से राहुल गाँधी ने दावा किया कि 'वर्ष 2009 से साल 2014 के मध्य चीन से कुल अधिकतम इम्पोर्ट 14 फीसदी था जबकि मोदी सरकार ने यह अधिकतम 18 फीसदी तक जा पहुंचा है.' गौरतलब है कि पूर्वी लद्दाख में कई जगहों पर पिछले सात हफ़्तों से भारत और चीन की सेनाएं आमने-सामने हैं. 15 जून को गलवान घाटी में हुई झड़प में 20 भारतीय जवानों के शहीद होने के बाद तनाव कई गुना बढ़ गया है. दूसरे दौर की वार्ता में 22 जून को दोनों पक्षों के बीच पूर्वी लद्दाख में तनाव वाली जगहों पर ‘पीछे हटने’ के लिए ‘परस्पर सहमति’ बनी थी.

वहीं दूसरी तरफ भारत सरकार ने चीन पर निर्भरता कम करने के लिए, इम्पोर्ट की जाने वाली वस्तुओं पर नियंत्रण लगाने के लिए कदम उठाए हैं, साथ ही सोमवार को 59 चीनी ऐप्स को प्रतिबंधीत कर दिया है. कांग्रेस ने 59 चीनी ऐप पर बैन लगाने के फैसले का स्वागत करते हुए सोमवार को कहा कि केंद्र को और प्रभावशाली कदम उठाने चाहिए.

 

तीरंदाज दीपिका कुमारी बंधने जा रही है शादी के बंधन में, शुरू हुई हल्दी की रस्मे

यदि मैच के दौरान बॉल चमकाने के लिए किया लार का इस्तमाल तो हो सकती है परेशानी

कोरोना जांच में नहीं लगेगा समय, जल्द उपलब्ध होगी घरेलू टेस्ट किट