अमरिंदर सिंह ने उठाए राहुल की नेतृत्व क्षमता पर सवाल, कहा पंजाब पर ध्यान दे कांग्रेस

अमरिंदर सिंह ने उठाए राहुल की नेतृत्व क्षमता पर सवाल, कहा पंजाब पर ध्यान दे कांग्रेस

अमृतसर : पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता अमरिंदर सिंह ने राहुल गांधी की नेतृत्व क्षमता पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि पार्टी में कोई भी पंजाब को लेकर गंभीर नहीं है और कांग्रेस उपाध्यक्ष जिस तरह पंजाब कांग्रेस में मचे घमासान को सुलझाने की कोशिश कर रहे हैं, इससे उनका कांग्रेस के प्रति मोहभंग हो गया है.

एक इंटरव्यू में अमरिंदर सिंह ने कहा कि 'हम पंजाब में समस्याओं से जूझ रहे हैं. पंजाब मेरा घर है. राहुल गांधी को पंजाब में नहीं रहना, लेकिन मुझे और मेरे परिवार और आगे की पीढ़ी को यही रहना है. मैं नहीं जानता देश के और हिस्सो में क्या हो रहा है, लेकिन पंजाब को जिस तरह से चलाया जा रहा है इससे अब मेरा कांग्रेस के प्रति मोहभंग हो गया है.'

उन्होने कहा कि उनकी पार्टी में पंजाब को कोई गंभीरता से नहीं ले रहा है. इस ओर काफी समय भी दिया जा चुका है. बाजवा को मौका दिया गया, पर अगर वह आदमी असफल रहा तो आपने उन्हें वहां क्यों रखा हुआ है?  सिंह ने कहा कि 'यह काम करने का तरीका नहीं है. सोनिया गांधी उन्हें काफी समय पहले वहां से हटा देतीं, लेकिन अब राहुल गांधी को निर्णय करना होगा कि वह आदमी असफल हो गया है और उसे हटाना जरूरी है.'

अमरिंदर सिंह ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि 'राहुल युवा हैं. उनकी अपनी सोच है, लेकिन उनको यह समझना होगा कि भारत एक विशाल देश है. आप भारत को बदल नहीं सकते. बंगाल, असम, केरल हर जगह की अपनी समस्याएं हैं. कहीं जाकर बैठ जाने और दलित के घर खाना खाने से समस्याएं हल नहीं होती. यह सिर्फ नाटक है.'

राहुल गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष न बनाए जाने पर अमरिंदर सिंह ने कहा कि वह सिर्फ पंजाब के बारे में कह सकते हैं उन्होने कहा कि 'आपको उन लोगों से जुड़ने की जरूरत है जो पंजाब की समस्याओं से रूबरू हैं. आप ऐसे लोगों को नजरंदाज नहीं कर सकते.

सिंह ने कहा कि लोग उनसे कांग्रेस छोड़ने को कह रहे हैं, लेकिन इसके लिए पार्टी नेतृत्व को भी सोचना चाहिए कि वह पंजाब में समस्याओं से निपटना चाहती है या नहीं है. अगर ऐसा नहीं होता है तो मुझे दूसरे विकल्पों के बारे में सोचना होगा.