लखीमपुर हिंसा पर नहीं थम रहा घमासान, आज राष्ट्रपति से मिलेंगे राहुल-प्रियंका

नई दिल्ली: कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल लखीमपुर खीरी हिंसा मामले को लेकर बुधवार यानी आज राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिलेगा और उन्हें इस घटना से संबंधित एक ज्ञापन सौंपेगा. कांग्रेस के इस 7 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल में राहुल गांधी के साथ राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, वरिष्ठ नेता एके एंटनी, गुलाम नबी आजाद, लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी, पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल मौजूद रहेंगे.

कांग्रेस सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार, पार्टी का यह प्रतिनिधिमंडल बुधवार को सुबह 11.30 बजे राष्ट्रपति से मिलेगा. कांग्रेस ने 10 अक्टूबर को राष्ट्रपति को पत्र लिखते हुए पार्टी के 7 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल के लिए राष्ट्रपति से मिलने का वक़्त मांगा था. जिसके बाद मंगलवार को राष्ट्रपति की ओर से इस निवेदन को स्वीकृति दे दी गई. बता दें कि कांग्रेस लखीमपुर हिंसा को लेकर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी को बर्खास्त करने की मांग कर रही है.

इतना ही नहीं, कांग्रेस इस हिंसक घटना को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की अगुवाई वाली उत्तर प्रदेश सरकार पर लगातार हमलावर है. पार्टी के नेता इस मुद्दे पर पीएम नरेंद्र मोदी की चुप्पी पर भी सवाल खड़े कर रहे हैं. लखीमपुर खीरी के तिकुनिया गांव का दौरा कर पीड़ित परिवारों से मुलाकात करने वाले प्रियंका गांधी वाड्रा और राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर निशाना भी साधा, जो विकास परियोजनाओं का उद्घाटन करने के लिए लखनऊ गए थे. कांग्रेस नेताओं ने कहा कि पीएम मोदी के पास लखीमपुर खीरी जाने का वक़्त नहीं है.

पहले लोगों को भड़काओ.. फिर मासूमों की हत्या के लिए सरकार को दोष दो, क्या यही चाहतीं हैं महबूबा ?

कांग्रेस के 'बागियों' की वापसी पर बाधा बने हरीश रावत, बोले- पहले 'महापापी' माफी मांंगें

अरब देशों के लिए बढ़ सकती है चुनौतियां, जानिए क्यों..?

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -