मोदी सरकार राजन को आरबीआई गवर्नर के रुप में आगे भी बनाए रखेगी

नई दिल्ली: तमाम अटकलों के बीच यह साफ हो गया है कि रिजर्व बैंक के तत्कालीन गवर्नर रघुराम राजन आगे भी यथावत बने रहेंगे। कहा जा रहा है कि पीएम नरेंद्र मोदी ने एक बैठक में कहा था कि सेंट्रल बैंक के साथ सार्वजनिक तौर पर विवाद सही नहीं है। बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने राजन को तत्काल पद से हटाने के लिए पीएम को पत्र लिखा था।

स्वामी ने मोदी को राजन के खिलाफ एक चार्जशीट भी सौंपी थी। सूत्रों के मुताबिक फॉरेन इंवेस्टर्स भी राजन को आरबीआई चीफ बनाए रखने के सरकार के कदम का स्वागत करेंगे। विदेश मंत्रालय के कुछ अधिकारी भी उनके लगातार ब्याज दर में कटौती न किए जाने से नाराज हैं। बीते वर्ष दिसंबर में विदेश मंत्रालय के साथ हुई एक बैठक में मोदी को राजन के खिलाफ शिकायतें मिली थी।

बैठक के अंत में मोदी ने साफ किया कि इस तरह सेंट्रल बैंक के अधिकारी के साथ पब्लिकली विवाद ठीक नहीं है। कुछ अफसरों का कहना है कि मोदी, राजन के काम करने के तरीके से खुश हैं। हालांकि अभी इस मुद्दे पर न तो पीएमओ न ही फाइनेंस मिनिस्ट्री और न ही राजन की तरफ से इस मामले में कोई कमेंट किया गया है।

हाल ही में वॉल स्ट्रीट जर्नल को दिए इंटरव्यू में मोदी ने कहा था कि आरबीआई गवर्नर का मुद्दा एक एडमिनिस्ट्रेव मामला है। मैं समझता हूं कि इसमें मीडिया को इतना इंट्रेस्ट नहीं होना चाहिए।" मोदी ने कहा था कि राजन का टर्म सितंबर में खत्म होगा। इसके बारे में फैसला भी तभी किया जाएगा।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -