आशीर्वाद देने के बहाने शारीरिक सम्बन्ध के लिए मजबूर करती थी राधे माँ

मुंबई : कथित तौर पर देवी का अवतार और धर्म गुरू राधे मां को लेकर एक और मामला सामने आया है। जिसमें यह बात सामने आई है कि मुंबई कोर्ट ने इस बात की जांच करवाई है जिसमें कहा गया है कि क्या राधे मां सेक्स रैकेट चला रही थी। कोर्ट ने कहा कि क्या इसमें धर्म का सहारा लिया जा रहा था। इस मामले में न्यायाधीशों न्यायमूर्ति एसवीएम कानाडे और शालिनी फणसलकर जोशी ने एक जनहित याचिका पर सुनवाई की। फाल्गुनी ब्रह्मभट्ट की याचिका पर सुनवाई करते हुए न्यायाधीशों ने कहा कि पुलिस मामले की जांच नहीं कर रही।

फाल्गुनी द्वारा आरोप लगाया गया कि पुलिस को जानकारी दी गई थी मगर इस संबंध में किसी तरह का कदम नहीं उठाया गया। न्यायालय में यह बात सामने आई कि राधे मां सैक्स रैकेट चलाती थी। युवा लड़के और लड़कियों को लालच देकर वह निमंत्रित करती थी और फिर आशीर्वाद देने के साथ सेक्स के लिए मजबूर करती थी। पुलिस द्वारा कोर्ट में अपनी रिपोर्ट पेश की गई। जिसमें कहा गया कि पुलिस ने FIR दर्ज कर दी गई। मामले में यह बात भी सामने आ रही है कि राधे मां एक अपंजीकृत ट्रस्ट संचालित करती हैं। जिसमें करोड़ों की संपत्ती है।

उल्लेखनीय है कि मुंबई में अपने एक भक्त परिवार की बहू को दहेज के लिए प्रताडि़त करने के मामले में सुर्खियों में आई राधे मां को लेकर धार्मिक भावनाऐं भड़काने और भक्तों के साथ छल करने का आरोप भी लगाया गया। लाल रंग के पहनावे और त्रिशूल धारण किए हुए राधे में समाचार चैनलों की सुख्रियों में छाई रही। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

मुख्य समाचार

- Sponsored Advert -