कृषि ऋण देने की प्रक्रिया सरल हो

नई दिल्ली : कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह का कहना है कि बैंकों से कृषि ऋण देने की प्रक्रिया को सरल बनाने की जरूरत है. ऐसी व्यवस्था होनी चाहिए जिससे बिना परेशान हुए किसान इस सुविधा का लाभ उठा सकें. वे यहां राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) के 35वें स्थापना दिवस समारोह के समापन सत्र को सम्बोधित कर रहे थे. सिंह ने कहा "बैंकों को ऐसी व्यवस्था करनी चाहिए जिससे किसानों को तेजी से समय पर और बिना परेशान हुए कृषि ऋण मिल सके."

आपने कहा बैंकों को एक साल के अंदर ऋण दस्तावेजों का मानकीकरण करना चाहिए. इसके अलावा आपने सुझाव दिया कि ई-बैंकिंग, आधार कार्ड और जनधन योजना के तहत भी कृषि ऋण सुविधा मिलनी चाहिए. कृषि मंत्री ने कहा कि आम आदमी के आर्थिक सशक्तीकरण के लिए बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया गया था, लेकिन आम किसान अब भी बैंकों में जाने का साहस नहीं कर रहा है.

कुछ तेजतर्रार लोग ही बैंकों के अंदर जाकर ऋण सुविधा का लाभ ले पाते हैं. यह व्यवस्था बदलनी चाहिए. पीएम मोदी की पहल और बैंकों की सक्रियता से जन-धन योजना के तहत 22 करोड़ परिवारों के बैंक खाते खुल सके.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -