नागालैंड के पूर्व राज्यपाल आर एन रवि ने इस पद के लिए ली शपथ

आर.एन. नागालैंड के पूर्व राज्यपाल रवि ने शनिवार सियोटेम्ब्र 18 को तमिलनाडु के राज्यपाल के रूप में शपथ ली। मद्रास उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति संजीव बनर्जी ने आरएन रवि को पद की शपथ दिलाई। रवि के साथ मंच पर आए तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने शपथ लेने के बाद नए राज्यपाल को एक किताब भेंट की। उन्होंने रवि की पत्नी का भी अभिनंदन किया। इसके बाद तमिलनाडु के मुख्यमंत्री। स्टालिन ने अपने कैबिनेट सहयोगियों को नए राज्यपाल से मिलवाया। मुख्य न्यायाधीश श्री बनर्जी ने रवि से मद्रास उच्च न्यायालय के न्यायाधीशों का परिचय कराया।

पूर्व मुख्यमंत्री एडप्पादी के पलानीस्वामी और केंद्रीय राज्य मंत्री, भाजपा के एल मुरुगन को टीएन कैबिनेट मंत्रियों के पीछे सीटें आवंटित की गईं। तमिल मनीला कांग्रेस अध्यक्ष जी.के. वासन, एमडीएमके महासचिव वाइको अन्य नेताओं में शामिल थे जिन्होंने इस अवसर पर शिरकत की।

केरल कैडर के 1976 बैच के आईपीएस अधिकारी रवि, जो वर्ष 2012 में इंटेलिजेंस ब्यूरो में विशेष निदेशक के रूप में सेवानिवृत्त हुए थे, को 2014 में नागा शांति चर्चा पर सरकारी वार्ताकार के रूप में नियुक्त किया गया था। 2015 में, उन्होंने एक रूपरेखा समझौते पर हस्ताक्षर किए। 3 अगस्त 2015 को केंद्र की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में एनएससीएन-आईएम और बाद में 2019 में उन्हें अपने वार्ताकार की जिम्मेदारी के साथ राज्यपाल बनाया गया।

PM के तोहफों की नीलामी..., नीरज चोपड़ा का 'भाला' खरीदने के लिए मची होड़, 10 करोड़ तक लगी बोली

कुंबले या लक्ष्मण ? रवि शास्त्री के इस्तीफे के बाद कौन होगा टीम इंडिया का हेड कोच

न्यूज़ीलैंड के बाद अब इंग्लैंड भी देगा PAK को झटका, ECB रद्द कर सकती है दौरा

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -