आज ही छोड़े मास का सेवन और बन जाएं एकदम वेजेटेरियन

प्रत्येक वर्ष 1 नवंबर को दुनिया भर में वर्ल्ड वैगन डे यानि विश्व शाकाहारी दिवस सेलिब्रेट किया जाता है। यह दिन मनुष्यों, जानवरों और प्राकृतिक पर्यावरण के लिए शाकाहारी होने के लाभ के बारे में प्रचार-प्रसार करने लिए भी पहचाना जाता है। विश्व शाकाहारी दिवस आम तौर पर शाकाहारी भोजन और शाकाहारी होने के लाभों को बढ़ावा देने का एक मौका है।

अर्शदीप सिंह के जबरे फैन हुए केएल राहुल, जानिए क्या कहा ?

vegan (शाकाहारी) शब्द डोनाल्ड वॉटसन द्वारा दिया गया, जिसे Vegetarian शब्द से लिया गया है। उस वक़्त, भेदभाव यह था कि वेगंस को डेयरी उत्पादों का उपभोग करने की कोई भी मंज़ूरी नहीं थी, इस बात का उन्होंने विरोध किया और विरोध में अंडे का सेवन बंद कर दिया और फिर 1951 में इसे एक शाकाहारी आंदोलन का रूप मिल गया। तब से हर वर्ष 1 नवंबर को पूरी दुनिया में शाकाहार दिवस को एक अभियान और जागरूकता के तौर पर सेलिब्रेट किया जाता है। प्रत्येक वर्ष शाकाहारी सोसाइटी द्वारा विश्व भर में कई समारोह और प्रदर्शनियां आयोजित की जाती हैं। जिसके साथ साथ व्यक्तियों द्वारा कई स्थानीय कार्यक्रम, वार्ता और खाना पकाने के प्रदर्शन आयोजित भी किए जा रहे है।

बुमराह फिट नहीं थे तो ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ क्यों खिलाया ? सवालों के घेरे में BCCI

 विश्व शाकाहारी दिवस का इतिहास: बता दें कि इस दिन की शुरुआत 1994 में लुईस वालिस के द्वारा की गई थी, जब यूनाइटेड किंगडम में द वेगन सोसाइटी के अध्यक्ष बन गए थे,  इस संगठन की स्थापना की 50 वीं वर्षगांठ और “vegan” and “veganism” शब्दों के संयोग को यादगार बनाने और लोगों में शाकाहारी आहार को बढ़ावा देने के लिए वेगन सोसायटी के अध्यक्ष ने 1 नवंबर वेगन दिवस (Vegan Day) को हर वर्ष सेलिब्रेट करने का एलान कर दिया गया। 

फुटबॉल विश्व कप के दौरान दर्शकों को दिखानी होगी ये चीज

अंतर्राष्ट्रीय अनुवाद दिवस आज, जानिए इस दिन का महत्त्व और इतिहास

यूक्रेन के 4 इलाकों पर कल कब्ज़ा कर लेगा रूस.., पुतिन का ऐलान

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -