संतोषजनक नहीं है रेलवे का काम : PMO

संतोषजनक नहीं है रेलवे का काम : PMO

रेलवे की चाल में लगातार सुस्ती देखने को मिल रही है और इसको देखते हुए अब PMO ने भी कड़ा रुख अपनाते हुए इसपर नाराजगी जाहिर की है. गौरतलब है कि इकनोमिक विजन में रेलवे सेक्टर की प्राथमिकता को देखते हुए रेलवे मिनिस्ट्री पर लगातार दबाव बना हुआ है और यह कहा जा रहा है कि इस मामले में काम को तेज किया जाये. इस मामले को ध्यान में रखते हुए ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रिंसिपल सेक्रेटरी नृपेंद्र मिश्र ने रेलवे मिनिस्ट्री को एक लेटर भी भेजा है जिसमे यह लिखा हुआ है कि रेलवे मिनिस्ट्री ने संतोषजनक स्तर से कम प्रदर्शन किया है.

लेकिन साथ ही मिश्र ने यह उम्मीद भी जताई है कि जल्द ही रेल मंत्री सुरेश प्रभु उनकी उम्मीदों को पूरा करंगे और रेलवे में एक सही विकास को जन्म देंगे. यही नहीं उन्होंने यह उम्मीद भी जताई है कि जल्द ही सुरेश प्रभु इस बात को गंभीरता से देखते हुए रेलवे को एक नई और बेहतर दिशा देने में भी कामयाब होंगे. गौरतलब है कि सुरेश प्रभु को रेल मंत्री के पद के लिए नरेंद्र मोदी ने अपनी पहली पसंद बनाया था.

इसके साथ ही लेटर के बारे में आपको यह भी बता दे कि इसमें हाई-स्पीड सर्विसेज के साथ ही स्टेशन डेवलपमेंट के बारे में भी लिखा गया है. हालाँकि मिश्र ने यह भी बताया है कि यह लेटर एक रूटीन मॉनिटरिंग का हिस्सा है, इसका यह मतलब नहीं है कि रेलवे मिनिस्ट्री के द्वारा कोई भी संतोषजनक काम नहीं किया गया है. लेकिन मिश्र ने इस मामले में नाराजगी जताते हुए यह भी कहा है कि रेलवे मिनिस्ट्री ने अब तक दिए गए बजट(40 हजार करोड़) का केवल 20 फीसदी ही खर्च किया है.