इन उपायों को आजमाकर करें पायरिया की छुट्टी

इन उपायों को आजमाकर करें पायरिया की छुट्टी

हम आपको बता दें पायरिया की वजह असमय दांत गिरने का खतरा रहता है। सांसों से तेज दुर्गंध, दो दांतों के बीच जगह बनना, कमजोर होकर दांतों का हिलने लगना भी पायरिया के प्रमुख लक्षण हैं। आमतौर पर इस बीमारी इतनी गंभीरता से नहीं लिया जाता लेकिन अगर समय पर इसका ईलाज न किया जाय तो यह गंभीर स्वास्थ्य समस्या में तब्दील हो सकती है। दुनिया भर में पायरिया के बहुत से मरीज हैं। इस बीमारी को लेकर लोगों में धारणा है कि इसका कोई ईलाज नहीं है, जबकि इसका ईलाज संभव है।

बड़ी बीमारी को दूर करती है व्हिस्की, बस ऐसे करें सेवन

ऐसे कर सकते है पायरिया की छुट्टी 

जानकारी के अनुसार लौंग का प्रयोग पायरिया की मुख्य औषधि के रूप में किया जा सकता है। यह तैलीय संक्रमण को रोकता है। लौंग के तेल की थोड़ी सी मात्रा लेकर दांतों पर हल्का-हल्का ब्रश करें। प्याज भी दांतो के लिए बेहतरीन औषधि है। प्याज को काटकर उसे तवे पर हल्का गर्म कर लें और फिर दांत के नीचे दबाकर मुंह बंद कर लें। 10-12 मिनट तक यूं ही रहने दें। इससे मुंह में काफी लार इकट्ठी हो जाएगी, जो कि पायरिया को जड़ से खत्म करने में मदद करेगी।

आवाज़ को बनाना चाहते हैं मधुर तो इन बातों पर दें ध्यान

और भी है कई फ़ायदे 

इसी के साथ नीम के पत्ते को सुखाकर उसे किसी बर्तन में रखकर जला लें। बाद में इसकी राख को छानकर उसमें सेंधा नमक मिला लें। सेंधा नमक की मात्रा राख की मात्रा के बिल्कुल बराबर होनी चाहिए। इस पाउडर से नियमित तीन-चार बार मंजन करने से पायरिया की समस्या दूर हो जाएगी। इसके अलावा एक चम्मच नारियल का तेल मुंह में डालकर पानी की तरह घुमाने से भी पायरिया की समस्या से निजात मिलती है।

ये हैं दुनियाभर के अजीब और दिलचस्प फैक्ट्स, अमेरिका का है काफी इंटरेस्टिंग

World Sleep Day : जानिए क्या होते हैं जमीन पर सोने के फायदे

World Sleep Day : सोने से भी होता है आपका मोटापा कम, जानिए कैसे