सिंधु बोली ओलंपिक पदक जीवन की सबसे बड़ी उपलब्धि

मुंबई : विश्व चैंपियनशिप में लगातार 2 कांस्य पदक जीतने वाली बैडमिंटन खिलाड़ी पी वी सिंधू ने कहा कि यदि वह रियो ओलंपिक खेलों में पोडियम में पहुंचने में सफल रहती हैं तो वह उनके लिए सबसे बड़ी उपलब्धि है.

मीडिया से बातचीत के दौरान इस 20 साल की स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी ने कहा कि यह विश्व चैंपियनशिप से बड़ी उपलब्धि होगी. हर किसी का आखिरी लक्ष्य ओलंपिक में पदक जीतना होता है जहां परिस्थितियां और माहौल पूरी तरह से भिन्न होता है. लेकिन सबसे अहम बात यह है कि मैं काफी उत्साहित हूं. यह मेरा पहला ओलंपिक है. 

विश्व में दसवें नंबर की सिंधू और उनसे दो पायदान उपर काबिज एक अन्य हैदराबादी साइना नेहवाल पांच से 21 अगस्त के बीच दक्षिण अमरीका में पहली बार होने वाले खेल महाकुंभ में पदक की प्रबल दावेदार मानी जा रही हैं.

गौरतलब है कि विश्व बैडमिंटन की ताजा रैंकिंग जारी होने के बाद 7 भारतीय खिलाडियों का रियो ओलंपिक खेलने का रास्ता साफ़ हो गया है. जिस खिलाडियों को रिओ ओलम्पिक में एंट्री मिली है वह खिलाडी सायना नेहवाल, ज्वाला गट्टा, अश्विनी पोनप्पा, के.श्रीकांत, पीवी सिंधू, मनु अत्री और बी सुमित रेड्डी हैं.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -