ICRA : ऑटो सेक्टर की मंदी का असर और गहराया, यात्री वाहनों की सेल्स में भारी गिरावट

ICRA : ऑटो सेक्टर की मंदी का असर और गहराया, यात्री वाहनों की सेल्स में भारी गिरावट

देश में यात्री वाहनों की बिक्री में वाहन सेक्टर में आई सुस्ती के कारण चार से सात परसेंट की गिरावट दर्ज की गई है. ICRA ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि सरकार की तरफ से किए गए उपायों की घोषणा के बावजूद वित्तीय वर्ष में लगातार वाहन बिक्री में गिरावट व मंदी गंभीर स्थिति में पहुंच चुकी है. गौरतलब है कि ऑटो इंडस्ट्री ने चालू वित्त वर्ष के शुरुआती चार महीनों में बिक्री में 21.6 परसेंट गिरावट होने की बात कही है. इंडस्ट्री ने बीएस-4 वाहनों की अनिवार्यता को लेकर चिंताओं के बीच कर्ज मिलने में असमर्थता को इसकी वजह बताया. आइए जानते है पूरी जानकारी विस्तार से 

क्या मोदी सरकार के ​इन फैसलों से ऑटो सेक्टर की मंदी होगी समाप्त ?

हाल ही इस मामलेे में रेटिंग एजेंसी ने जानकारी दी है कि वित्त वर्ष 2020 में यात्री वाहनों में गिरावट की संभावना 4-7 प्रतिशत और मीडियम एंड हैवी कमर्शियल व्हीकल में 0-5 प्रतिशत के लिए अनुमानित है. वित्त वर्ष 2018-19 की दूसरी तिमाही की शुरुआत में ऑटो इंडस्ट्री कठिन समय से जूझ रहा है और इसमें विकास काफी धीमा हो गया है.शहरी और ग्रामीण इलाकों में उपभोक्ता भावनाओं में कमजोरी का कारण कृषि-कमोडिटी की कीमतों में गिरवाट, सुरक्षा, उत्सर्जन, वाहन पंजीकरण सहित नियामक परिवर्तनों के परिणामस्वरूप स्वामित्व की बढ़ती लागत, ब्याज दर/EMI में वृद्धि है, जिसके चलते मांग प्रभावित हुई है.

जानिए KTM 390 Duke से Benelli Leoncino 500 कितनी है पावरफुल

अपने बयान में ICRA के सीनियर ग्रुप वाइस प्रेसिडेंट, Subrata Ray ने ऑटो सेक्टर के आउटलुक पर टिप्पणी करते हुए कहा, "अल्पकालिक में, बहुत कुछ सार्थ मांग की रिकवरी मॉनसून के बाद निर्भर करेगा, विशेष रूप से इस तथ्य को देखते हुए कि देश के कई हिस्सों में बाढ़ आई है. कृषि उत्पादन, आर्थिक और औद्योगिक विकास नाजुक स्थित में होंगे. अपनी बात कों जारी रखते हुए उन्होने आगे कहा कि "हालांकि, यह देखा जाना बाकी है कि त्यौहारी सीजन के दौरान ऑटो की मांग कैसे बढ़ जाती है और संभवत: BS6 से पहले वित्त वर्ष 2020 की चौथी तिमाही में कीमतों में बढ़ोतरी से पहले सेक्टर को थोड़ा बूस्ट मिल सकता है."दुपहिया वाहनों पर ICRA ने कहा कि 1 अप्रैल 2020 से सभी मॉडलों में BSVI की शुरुआत पर निर्भर होगा, जिससे पूरे ऑटो इंडस्ट्री की कीमतों में वृद्धि होगी.

ऑटो इंडस्ट्री की इस दिग्गज कंपनी ने की छंटनी, 3000 लोगों को जॉब से निकाला

ऑटो सेक्टर को राहत देने के लिए यह कदम उठाएगी सरकारअगर इन स्टाइलिश बाइक्स पर है

आपकी नजर तो, कम कीमत में मिलेगा अधिक माइलेज