नोटबंदी से नेपाल के पीएम हुए चिंतित मोदी से की फोन पर बात

काठमांडू: नेपाल के प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल प्रचंड ने भारत में बंद किये गए 500 और 1000 रुपये के नोट पर चिंता जाहिर करते हुए इन नोटों से नेपाल में होने वाली परेशानियों का जिक्र उन्होंने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से फोन पर बात करके किया. उन्होंने बताया की नेपाल में जिन लोगो के पास यह नोट है. उन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.  

उन्होंने भारतीय प्रधानमंत्री से कुछ ऐसी व्यवस्था बनाने की मांग की, जिससे नेपाल में जिन लोगों के पास भी यह भारतीय मुद्रा है वे भी इसे आसानी से बदल सकें. व लोगो को परेशानियों का सामना ना करना पड़े.

मिली जानकरी में स्थानीय अखबार काठमांडू पोस्ट ने बताया है कि सैंकड़ों-हजारों लोग मजदूर के रूप में भारत में काम करते हैं. वे लोग जो मेडिकल सुविधाओं और अन्य जरूरी चीजों के लिए भारतीय बाजारों पर आश्रित हैं. और उनके पास 500-1000 रुपये के नोट हैं, वे भारत में नोटबंदी के फैसले से खासे दुखी और परेशान हैं.

इसके साथ ही वह यात्रा करने वाले लोगो को भी इसको लेकर मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है. जिसके चलते चलन में न होने कि वजह से वे संकट में पड़ गए है.  वाणिज्य एवं उद्योग मंडल महासंघ के अनुसार अगर यह पुराने नोट नहीं बदले गए तो बहुत से लोगों की पूरी बचत खत्म हो जाएगी. 

प्रधानमंत्री मोदी ने फोन पर हुई इस बातचित के बाद उन्हें इसमें सहायता करने का आश्वासन दिया है. वही जल्दी ही जरूरी कदम उठाकर लोगो के पैसे बदलने की सुविधा मुहैया कराई जाने की बात कही. 

नोट के बाद सरकार चल रही स्याही का खेल

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -