पंजाब में इंदिरा गांधी के कातिलों की याद में श्रद्धांजलि सभा, 'शहीद' बताकर किया गया उनके परिजनों का सम्मान

अमृतसर: शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (SGPC) अमृतसर ने 6 जनवरी 2022 (गुरुवार) को इंदिरा गाँधी के कातिलों को याद कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। दरबार साहिब परिसर स्थित गुरुद्वारा झंडा बुंगा में इंदिरा गांधी की हत्या करने वालों को श्रद्धांजलि दी गई। इस दौरान उन्हें शहीद बताकर याद किया गया। इस दौरान उनके परिवारों को भी सम्मानित किया गया। बता दें कि वर्ष 1989 में 6 जनवरी के ही दिन सतवंत सिंह और केहर सिंह को दिल्ली के तिहाड़ जेल में फाँसी दी गई थी।

SGPC अमृतसर ने ट्वीट करते हुए इस बारे में जानकारी भी दी है। ट्वीट में इसे ऐतिहासिक कार्यक्रम कहा गया है। ट्वीट में लिखा है कि, 'ऐतिहासिक दिन, शहीद भाई सतवंत सिंह और भाई केहर सिंह को फाँसी दी गई। फाँसी के बाद इन शहीदों के शवों का दिल्ली जेल के अंदर अंतिम संस्कार किया गया और पूरे पंजाब में कर्फ्यू लगा दिया गया।' इस श्रद्धांजलि सभा में सतवंत सिंह के भाई वारयान सिंह भी मौजूद रहे।  अन्य लोगों के साथ वारयान सिंह को भी सम्मानित किया गया। लबादा ओढ़ाकर उन्हें सम्मानित किया गया। वारयान सिंह को यह सम्मान ज्ञानी गुरमिंदर सिंह, SGPC सदस्य मंजीत सिंह तथा वकील भगवंत सिंह सिआलका ने दिया। इन दोनों की याद में प्रेम सिंह द्वारा प्रार्थना की गई और ज्ञानी गुरमिंदर सिंह ने पवित्र हुक्मनामा का पाठ किया।

बता दें कि पूर्व पीएम इंदिरा गाँधी के कातिलों को SGPC द्वारा सम्मानित किए जाने की ये पहली घटना नहीं है। यह आयोजन लगभग प्रति वर्ष 6 जनवरी को होता है। कई मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, यह एक वार्षिक परम्परा के जैसे होता रहा है। वर्ष 2012 में यह आरंभ हुआ था,  जो अब तक जारी है। 31 अक्टूबर 2021 को SGPC ने बेअंत सिंह को भी श्रद्धाजंलि अर्पित की थी।

जब सतवंत सिंह ने इंदिरा गांधी पर खाली कर दी थी पूरी बन्दूक..

फ्लाईओवर जाम, चारों तरफ प्रदर्शनकारी.. PM की हत्या की प्लानिंग ? 1 साल पहले ही बन गया था Video

PM की सुरक्षा में चूक, बार-बार बयान बदल रहे चन्नी, प्रदर्शनकारियों के साथ चाय पी रही पंजाब पुलिस, Video

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -