पंजाब: 86 मौतों के बाद एक्शन मोड में सरकार, 100 ठिकानों पर छापे, 25 गिरफ्तार

Aug 02 2020 11:54 AM
पंजाब: 86 मौतों के बाद एक्शन मोड में सरकार, 100 ठिकानों पर छापे, 25 गिरफ्तार

अमृतसर: पंजाब में जहरीली शराब पीने के चलते मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 86 तक पहुंच गई है. अब इस मामले में कार्रवाई शुरू हो गई है. पुलिस ने 3 जिलों में नकली शराब के लगभग 100 ठिकानों पर छापेमारी की है और अब तक 25 लोगों को अरेस्ट कर चुकी है. इस बीच पंजाब सरकार ने बड़ा एक्शन लेते हुए तरनतारन के आबकारी विभाग के अधिकारी मधुर भाटिया को अपनी ड्यूटी में लापरवाही बरतने के आरोप में निलंबित दिया है. अब तक आबकारी विभाग के 7 अधिकारी और 6 पुलिसकर्मी निलंबित किए जा चुके हैं.

इस मामले में तरन तारन के SSP ने 2 थाना प्रभारी और 1 DSP को पहले ही निलंबित कर दिया है. पुलिस अब इस बात की पड़ताल कर रही है कि इन अधिकारियों के नशे के सौदागरों के साथ क्या ताल्लुक हैं? पंजाब सरकार ने मृतकों के परिवार वालों को 2-2 लाख की आर्थिक सहायता करने की घोषणा की है. पंजाब के 3 जिले जहरीली शराब पीने के चलते प्रभावित रहे जिसमें सबसे अधिक मौत तरन तारन जिले से दर्ज की गई और यहां पर 63 लोग मारे गए. जबकि अमृतसर में 12 और गुरदासपुर के बटाला में 9 लोगों की जान गई है.

इस बीच दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट करते हुए इस घटना पर शोक जाहिर किया है. उन्होंने कहा कि अवैध शराब की वजह से पंजाब में जान-माल के नुकसान से दुखी हूं. ऐसे माफियाओं पर लगाम लगाने के लिए राज्य सरकार को फ़ौरन जरुरी कदम उठाने की आवश्यकता है. इस मामले को तत्काल सीबीआई को सौंप दिया जाना चाहिए क्योंकि पिछले कुछ महीनों से अवैध शराब के मामलों में से स्थानीय पुलिस की तरफ से किसी तरह का कोई निराकरण नहीं किया गया है.

पेट्रोल-डीजल के दाम में नहीं हुए बदलाव, जानें क्या है आज कीमत

ब्राज़ील में कोरोना ने पकड़ी तेजी, अब तक इतनी हुई मौतें

इज़राइल के पीएम पर भड़के लोग, कर रहे विरोध प्रदर्शन