बन्दूक के लाइसेंस के लिए अपने ही घर पर करवा दी फायरिंग, इस तरह पकड़ाया आरोपी

अमृतसर: पंजाब के मोगा जिले में शस्त्र लाइसेंस लेने के लिए घर पर फर्जी गोलीबारी की वारदात को अंजाम देने के आरोप में एक व्यक्ति को अरेस्ट किया गया है। पुलिस ने कहा है कि आरोपी को उसके दो सहयोगियों के साथ अरेस्ट किया गया है, जिन्होंने उसके घर पर ही फायरिंग करने में मदद की थी। एसएसपी ने बताया कि मामले में आगे की छानबीन जारी है। पंजाब पुलिस ने जानकारी दी है कि, 'बांबिहा भाई गांव के एक शख्स ने दावा किया है कि सोमवार सुबह कुछ अज्ञात लोगों ने उसके घर पर फायरिंग की, जो हथियार लाइसेंस हासिल करने के लिए गढ़ी गई कहानी थी।' 

मोगा पुलिस ने तरलोचन सिंह और उसके दो साथियों कुलविंदर सिंह और सुखवंत सिंह उर्फ ​​फौजी को अरेस्ट कर लिया है। पुलिस ने फरीदकोट जिले के ग्राम चन्नियां के रहने वाले जगमीत सिंह उर्फ ​​जगमिता के खिलाफ भी केस दर्ज किया है। आरोपियों के कब्जे से एक ।315 बोर की देसी पिस्तौल, 2 जिंदा कारतूस, एक ।32 बोर की रिवॉल्वर, 7 जिंदा कारतूस, 4 मोबाइल फोन और 1 पेन ड्राइव बरामद किया गया है। बयान में कहा गया है कि सोमवार को तरलोचन सिंह ने पुलिस को बताया था कि कुछ दिन पहले गैंगस्टरों ने उन्हें फिरौती के लिए धमकी दी थी और सोमवार तड़के चार बजे अज्ञात लोगों ने उनके घर पर फायरिंग कर दीं। जांच के दौरान जब CCTV कैमरे खंगाले गए, तो पुलिस को पूरी घटना के बारे में संदेह हुआ।

इसके बाद तरलोचन सिंह से गहन पूछताछ हुई, जिसने बाद में स्वीकार कर किया कि उसे कुछ दिन पहले एक व्हाट्सएप कॉल के जरिए  गैंगस्टरों से फिरौती की धमकी मिली थी। फिर उसने हथियार के लाइसेंस के लिए अर्जी दी। तरलोचन ने लाइसेंस लेने के लिए अपने ही घर पर फायरिंग करने के लिए हथियार खरीदे। इसके बाद तरलोचन सिंह ने जानबूझकर पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल कनाडा के गैंगस्टर गोल्डी बरार का नामलिया। मोगा के SSP गुलनीत सिंह खुराना ने जानकारी दी है कि तरलोचन ने अपने दोस्त कुलविंदर सिंह से 32 बोर की लाइसेंसी रिवॉल्वर और सुखवंत सिंह से 315 बोर की देसी पिस्तौल खरीदी थी।

'खेत में घुसी गाय तो भाला घोंपकर मार डाला..', पीलीभीत से मनप्रीत सिंह गिरफ्तार

फेसबुक पर CM योगी को लेकर करता था अभद्र टिप्पणियां, आजमगढ़ से गिरफ्तार हुआ 'रंगबाज़ ऋतिक'

माँ और भाई के घर पहुँचते ही लड़की ने खा लिया जहर.., जानिए पूरा मामला

 

Most Popular

- Sponsored Advert -