गुरु की सराय को बना डाला मस्जिद.., पंजाब में हिन्दुओं और सिखों ने जताया विरोध, अब होगी जांच

चंडीगढ़: पंजाब के राजपुरा में एक मस्जिद के निर्माण को लेकर तनाव व्याप्त हो गया है। मामला गुज्जरा मोहल्ले का है। यहाँ पहले गुरु की सराय हुआ करती थी। इसमें हिंदू और सिख दोनों समुदाय के श्रद्धालु आया करते थे। बताया जा रहा है कि कुछ दिनों पहले कुछ लोगों ने गुरु की सराय को मस्जिद में तब्दील कर दिया। इसका सिखों और हिंदुओं ने जम कर विरोध किया।

गुरु की सराय के स्थान पर मस्जिद की वजह से पैदा हुए हालात को देखते हुए बड़ी तादाद में मौके पर फोर्स की तैनाती करनी पड़ी है। सोमवार (17 मई 2022) को इस मामले की स्थानीय SDM कोर्ट में सुनवाई भी की गई। इस दौरान मस्जिद बना रहे मुस्लिम पक्ष के लोगों के अलावा सिख और हिंदू भी बड़ी संख्या में मौजूद थे। सिखों और हिंदुओं के अनुसार, गुरु की सराय गुरुद्वारा है। यहाँ दोनों समाज के लोग सेवा करते थे। स्थानीय सिखों और हिंदुओं ने आरोप लगाते हुए कहा है कि बगैर किसी से पूछे यहाँ मस्जिद का रूप दे दिया गया। इस मुद्दे पर पहले भी सिख और हिंदू विरोध जाहिर कर चुके हैं।

स्थानीय लोगों का कहना है कि गुरु की सराय में रोज़ाना नमाज के समय मुस्लिम जमा हो जाते हैं। इनमें राज्य के बाहर के लोग भी शामिल होते हैं। इनका न तो वेरिफिकेशन किया जाता है और न ही रिकॉर्ड रखा जाता है। तेज आवाज में लाउडस्पीकर बजाया जाता है, जिससे आम जनता को समस्या होती है। SDM कोर्ट में सुनवाई के समय कई धर्माचार्य, गोरक्षा दल के लोग भी थे। सुनवाई के बाद SDM हिमांशु गुप्ता ने कहा कि माहौल को सामान्य रखने के लिए फोर्स तैनात की गई है। उन्होंने दोनों पक्षों को अपने-अपने दावे पेश करने के लिए प्रमाण और डाक्यूमेंट्स पेश करने के लिए कहा। दोनों पक्षों के बयान भी लिए गए हैं। अब प्रशासन अपने स्तर पर छानबीन करवाएगा कि यहाँ पर मस्जिद थी या फिर सराय।

बता दें कि जिस जगह पर विवाद हो रहा है वह पटियाला के गुजरांवाला मोहल्ले में मौजूद है। विश्व हिन्दू परिषद (VHP) का दावा है कि गुरु की सराय को मस्जिद बनाने के लिए मुस्लिम पक्ष द्वारा किसी भी प्रकार की इजाजत नहीं ली गई। VHP के इस दावे का गुजरांवाला मोहल्ले के स्थानीय निवासी और सिख समुदाय के कई लोग भी समर्थन कर रहे हैं। इन लोगों ने सराय को मस्जिद में तब्दील करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की माँग की है।

'ज्ञानवापी' पर घमासान, कोर्ट के आदेश पर मुस्लिम नेताओं ने दिए भड़काऊ बयान

कांग्रेस में सभी नेताओं पर लागू होगा '5 साल में पद छोड़ो' फॉर्मूला, केवल पार्टी अध्यक्ष को मिलेगी छूट

कोयला घोटाला: ममता बनर्जी को सुप्रीम कोर्ट से झटका, भतीजे अभिषेक से 24 घंटे के नोटिस पर पूछताछ कर सकेगी ED

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -