वर्ल्ड बैंक से 21 करोड़ डॉलर का कर्ज लेगी पंजाब सरकार, कैबिनेट में हुआ फैसला

चंडीगढ़: पंजाब की अमरिंदर सरकार, पंजाब नगर सेवा उन्नयन परियोजना (PMSIP) के तहत अमृतसर और लुधियाना के लिये नहर आधारित जलापूर्ति परियोजना के लिए वर्ल्ड बैंक या एशियन इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक (AIIB) से 21 करोड़ डॉलर का लोन मांगने जा रही है। एक सरकारी बयान के मुताबिक, सीएम अमरिंदर सिंह के नेतृत्व में एक आभासी बैठक में पंजाब कैबिनेट द्वारा शुक्रवार को कर्ज लेने का निर्णय लिया गया।

पंजाब कैबिनेट ने सीएम अमरिंदर सिंह को परियोजना के उद्देश्यों को पूरा करने और वर्ल्ड बैंक या AIIB द्वारा प्रस्तावित विभिन्न गतिविधियों के सफल और वक़्त पर कार्यान्वयन सुनिश्चित करने को लेकर फैसले लेने के लिए अधिकृत किया है। कैबिनेट को बताया गया कि लुधियाना और अमृतसर कस्बों के निवासियों को वर्तमान जल आपूर्ति प्रणाली विभिन्न जगहों पर लगाये गये गहरे बोर ट्यूबवेल के जरिए होती है। हालांकि, वक़्त के साथ, भूजल स्तर कम हो रहा है, जिससे ट्यूबवेल को बार-बार बदलने की जरुरत होती है। इसके साथ ही, नलकूपों में पानी का बहाव कम हो जाता है, जिसके चलते, निवासियों को अक्सर पीने के लिए पर्याप्त पानी नहीं मिलने की समस्या होती है। 

बयान में कहा गया है कि, ''इस समस्या को दूर करने के लिए, अब वर्ल्ड बैंक/ AIIB से 21 करोड़ डॉलर का लोन लेकर इन दोनों शहरों में नहर के माध्यम से पानी की आपूर्ति किये जाने का निर्णय लिया गया है, इसमें कहा गया है कि, ''अमृतसर शहर के लिए नहर से पानी की सप्लाई का काम पहले ही सौंपा जा चुका है, जबकि लुधियाना शहर के लिए प्रस्ताव आमंत्रित किया जा रहा है। परियोजना के कार्यान्वयन की अवधि काम सौंपे जाने के बाद तीन वर्ष की होगी।''

न्यूयॉर्क में कोरोना के नए वेरिएंट में 6.7 प्रतिशत केस डेल्टा वैरिएंट वाले, स्वास्थ्य विभाग रख रहा कड़ी नजर

आज अमित शाह से मिलेंगे गवर्नर धनखड़, बंगाल हिंसा पर हो सकती है चर्चा

जम्मू कश्मीर में फिर कुछ 'बड़ा' होने वाला है, 24 जून को PM मोदी ने बुलाई सर्वदलीय बैठक

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -