पंजाब कांग्रेस में भी परिवारवाद ? एडिश्नल एडवोकेट जनरल बनाए गए डिप्टी सीएम के दामाद

अमृतसर: पंजाब के डिप्टी सीएम सुखजिंदर सिंह रंधावा के दामाद को सूबे का एडिश्नल एडवोकेट जनरल बनाया गया है. इस पर सोमवार को विपक्ष ने राज्य सरकार की आलोचना करते हुए परिवारवाद का इल्जाम लगाया है. एक आधिकारिक आदेश के मुताबिक, वकील तरुण वीर सिंह लेहल और मुकेश चंदर बेरी को पंजाब के कार्यालय में तत्काल प्रभाव से अतिरिक्त एडवोकेट जनरल बना गया है.

बता दें कि तरुण वीर सिंह लेहल, पंजाब के डिप्टी सीएम सुखजिंदर सिंह रंधावा के दामाद हैं, और रंधावा के पास ही गृह मंत्रालय है. आम आदमी पार्टी (AAP) के नेता राघव चड्ढा ने लेहल की नियुक्ति को लेकर कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि राज्य में सिर्फ कांग्रेस मंत्री और विधायकों के परिवार के सदस्यों को ही नौकरी मिल रही है. उन्होंने आगे कहा कि, 'कांग्रेस 'हर घर नौकरी' के अपने मुख्य चुनावी वादे को पूरा कर रही है, किन्तु मामूली सा बदलाव किया है. नौकरियां पाने वाले ये लोग कांग्रेस के मंत्रियों और विधायकों के परिवारों के लोग हैं. सबसे बड़ा नाम डिप्टी सीएम रंधावा के दामाद का है. चन्नी निश्चित रूप से कैप्टन की विरासत को आगे बढ़ा रहे हैं.' 

वहीं, इस पर तरुण वीर सिंह लेहल ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि यह नियुक्ति योग्यता और अनुभव के आधार पर राज्य के एडवोकेट जनरल की अनुशंसा पर की गई है. उन्होंने आगे कहा कि, 'मैं हाई कोर्ट में करीब 13 सालों से प्रैक्टिस कर रहा हूं. अगर किसी का दामाद होना गलत है तो मुझे नहीं पता कि क्या कहना है.'

आज आज़म खान पर तय होंगे आरोप, जया प्रदा के लिए कही थी बेहद भद्दी बात

आज अपना कैबिनेट विस्तार कर सकती हैं ममता बनर्जी, अपने पास ही रखेंगी वित्त विभाग

जनता दरबार में पहुंचे इस शख्स ने मुख्यमंत्री से भोजपुरी फिल्मों को लेकर कर डाली ये फरियाद

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -