पंजाब कैबिनेट के नए मंत्रियों की सूची फाइनल, कैप्टन के करीबी रहे सभी नेताओं की छुट्टी, देखें पूरी लिस्ट

अमृतसर: पंजाब के नए कैबिनेट के मंत्रियों की लिस्ट फाइनल हो गई है। कैप्टन अमरिंदर सिंह गुट के 5 मंत्रियों की छुट्टी कर दी गई है। इसके साथ ही 8 मंत्री कैबिनेट में वापस आए हैं। वहीं, नए मंत्रिमंडल में 7 नए मंत्री शामिल किए जाएंगे। मंत्रियों की सूची फाइनल करने के बाद राहुल गांधी वापस शिमला पहुंच चुके हैं। वे बैठक करने शिमला से ही दिल्ली आए थे। सीएम चरणजीत चन्नी भी पंजाब लौट आए हैं। जिसके बाद उन्होंने राजयपाल बीएल पुरोहित से मुलाकात की। बाहर आकर सीएम चन्नी ने कहा कि कल यानी रविवार शाम काे 4.30 बजे सभी मंत्रियों का शपथग्रहण समारोह होगा। इससे पहले सीएम चरणजीत सिंह चन्नी और उपमुख्यमंत्री के रूप में सुखजिंदर रंधावा और ओपी सोनी शपथ ग्रहण कर चुके हैं। कैप्टन की कैबिनेट से साधु सिंह धर्मसोत, बलवीर सिद्धू, राणा गुरमीत सोढ़ी, गुरप्रीत कांगड़ और सुंदर शाम अरोड़ा को नए मंत्रिमंडल में नहीं रखा गया है।

इनमें साधु सिंह धर्मसोत पर पोस्टमैट्रिक घोटाले के इल्जाम लगे थे। राणा सोढ़ी ने सिद्धू गुट की बगावत के बाद कैप्टन के शक्ति प्रदर्शन के लिए डिनर करवाया था। कांगड़ पर हाल ही में दामाद को सरकारी नौकरी दिलवाने के बाद से सियासी हमले हो रहे थे। उनके लिए सुनील जाखड़ ने भी लॉबिंग की थी, किन्तु वह काम नहीं आई। सुंदर शाम अरोड़ा भी कैप्टन के करीबी माने जाते हैं और उन पर भी कुछ समय पहले जमीन से संबंधित कुछ आरोप लगे थे। पंजाब कैबिनेट में मनप्रीत बादल, विजयेंद्र सिंगला, रजिया सुल्ताना, ब्रह्म मोहिंदरा, अरुणा चौधरी, भारत भूषण आशु, तृप्त राजिंदर बाजवा और सुख सरकारिया वापसी कर रहे है।

मनप्रीत बादल ने चन्नी के नाम पर कांग्रेस आलाकमान को राजी करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। विजयेंद्र सिंगला के शिक्षा मंत्री रहने के दौरान ही पंजाब स्कूलों में नंबर वन आया था। वहीं, रजिया सुल्ताना सिद्धू के रणनीतिक सलाहकार मुहम्मद मुस्तफा की वाइफ हैं। अरुणा चौधरी को भी हटाने की तैयारी थी, किन्तु सीएम चन्नी के साथ रिश्तेदारी के कारण उन्हें मंत्री पद मिल गया। भारत भूषण आशु कैप्टन के अधिक करीब नहीं थे, बल्कि राहुल गांधी के साथ उनके अच्छे ताल्लुकात हैं। तृप्त राजिंदर बाजवा और सुख सरकारिया कैप्टन के खिलाफ बगावत करने वाले ग्रुप में थे, इसलिए उन्हें भी मंत्री पद वापस मिल गया है।

सरकार जल्द ही नई सहकारी नीति की घोषणा करे: अमित शाह

जब देश में नफरत का जहर फ़ैल रहा तो कैसा अमृत महोत्सव ?.. केंद्र पर राहुल गांधी का तंज

14 वर्ष से कम आयु के बच्चों की भीड़ से आयरलैंड में बढ़ रहा कोरोना का संक्रमण

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -