महाराष्ट्र पहुंची मंदिर-मस्जिद की लड़ाई, राज ठाकरे की पार्टी ने दरगाह पर उठाया सवाल

मुंबई: देशभर में मंदिर-मस्जिद की लड़ाई गति पकड़ती जा रही है। भिन्न-भिन्न प्रदेश में निरंतर मंदिर-मस्जिद को लेकर दावे हो रहे हैं, सर्वे करवाने की मांग उठाई जा रही है। अब हनुमान चालीसा विवाद के पश्चात् महाराष्ट्र में मंदिर-मस्जिद विवाद ने भी दस्तक दे दी है। MNS ने पुणे में दो मंदिरों को लेकर जंग छेड़ दी है। आरोप है कि मुगलों ने उन मंदिरों को तोड़कर वहां पर दरगाह का निर्माण करवाया।

MNS के अनुसार, पुणे में पहले दो जुड़वा मंदिर हुआ करते थे- पुणेश्वर तथा नारायणेश्वर। किंतु मुगल काल में अलाउद्दीन खिलजी के एक कमांडर ने उन दोनों ही मंदिरों को नष्ट कर वहां पर दरगाह का निर्माण करवा दिया। MNS नेता अजय शिंदे तो यहां तक बोल रहे हैं कि Deccan Archeological College की रिपोर्ट में इस बात की पुष्टि कर दी गई है कि वहां पर पहले दो मंदिर हुआ करते थे।

वही इस एक दावे ने क्षेत्र में तनाव की स्थिति उत्पन्न कर दी है। पुलिस फोर्स को भी क्षेत्र में बढ़ा दिया गया है। पूरा प्रयास किया जा रहा है कि दो धर्मों के बीच तनाव के हालात पैदा ना हो। वैसे MNS इस समय महाराष्ट्र में कई धार्मिक मुद्दों के दम पर अपनी सियासत चमकाने का प्रयास कर रही है। उसकी ओर से लाउडस्पीकर का मसला भी उठाया जा रहा है, वो मंदिर-मस्जिद विवाद पर भी प्रतिक्रिया दे रही है तथा शहरों के नाम परिवर्तित करने पर भी उसका पूरा जोर है। हाल ही में MNS प्रमुख राज ठाकरे ने एक रैली को संबोधित करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी से औरंगाबाद का नाम बदल संभाजीनगर करने की मांग उठा दी थी। उन्होंने प्रधानमंत्री से पूरे देश में यूनिफॉर्म सिविल कोर्ट भी लागू करने की अपील की थी। वे मानते हैं कि ऐसा होने पर महाराष्ट्र में शिवसेना की राजनीति ख़त्म हो जाएगी।

कर्नाटक हाई कोर्ट, जहाँ जज बैठते हैं उसके पास पढ़ी जा रही नमाज़..., Video वायरल

इस राज्य में OBC आरक्षण के बिना होंगे निकाय चुनाव

'अपन तो आएंगे-जाएंगे, समाज में खाई नहीं बनना चाहिए...', सांप्रदायिक घटनाओं पर बोले CM शिवराज

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -