पुलवामा हमले को गुजर गया एक साल, लेकिन शहीद के परिवार को अब तक सरकारी मदद का इंतज़ार

Feb 13 2020 03:46 PM
पुलवामा हमले को गुजर गया एक साल, लेकिन शहीद के परिवार को अब तक सरकारी मदद का इंतज़ार

बुलडाणा: पुलवामा आतंकी हमले के एक वर्ष गुजरने के बाद भी शहीद जवानों के परिवार के घाव भरे नहीं है. पुलवामा हमले में शहीद हुए महाराष्ट्र के बुलडाणा जिले के अंतर्गत आने वाले विरपांगरा गाव के नितिन राठौड़ का परिवार इस सदमे से उबर नहीं पाया है. नितिन के गांववाले और परिवार सबकी यही मांग है कि पडोसी मुल्क पाकिस्तान को कड़ा सबक सिखाया जाना चाहिए. 

नितिन की मां सावित्री राठौड़ ने कहा कि एक वर्ष से हम रो रहे हैं. नितिन की बहुत याद आती है. हम आज भी उसका रास्ता देखते हैं. उसके फोन की प्रतीक्षा करते हैं. नितिन के पिता शिवाजी राठौड़ ने बताया कि नितिन के शहीद होने के बाद सरकार ने हमारे परीवार को 5 एकड़ भूमि, पेट्रोल पंप, एक करोड़ का एक बंगला देने का वादा किया था ओ अभी तक पूरा नहीं किया गया है.  नितिन के शिक्षक एम.एस.चौहान बताते है कि राठौड़़ परीवार ने देश के लिए अपना बेटा खो दिया. 

उन्होंने कहा कि नितीन के शहीद होने के बाद सरकार ने राठौड़ परीवार को कुछ वादे किए थे जो कि उन्होंने पूरे करने चाहिए.  गांव के लोगों का कहना है कि सरकार को पाकिस्तान के खिलाफ सख्त कदम उठाने चाहिए, यदि वह हमारे एक जवान को मारे तो हमें उसके 10 जवानों को मार डालना चाहिए. गांव के ही नेहरू चौहान ने कहा कि नितिन सबके साथ घुल मिलकर रहता था. नितीन शहीद हुआ ये हमारे लिए बेहद दुख की बात हैं.  

भारतीय अर्थव्यवस्था को पांच ट्रिलियन डॉलर तक पहुंचाना कोई आसान काम नहीं है : पीएम मोदी

फ्लाइट से तिरुपति बालाजी के दर्शन हुए काफी सस्ते, यह है टूर पैकेज

Gold Futures price: सोने-चांदी की वायदा में आयी बढ़ोतरी, जानिये क्या रहा भाव