पुडुचेरी के सीएम ने सरकारी अधिकारियों से की यह अपील

पुडुचेरीः देश में सरकारी शिक्षण संस्थानों का क्या हाल है,ये किसी से छिपा नहीं है। समाज का संपन्न तबका इसलिए निजी संस्थानों की और रूख करता है। पुडुचेरी के सीएम ने इस व्यवस्था को लेकर एक बड़ी अपील की है। सरकारी शिक्षण संस्थानों का स्तर सुधारने और इसमें विश्वास बहाली के लिए मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी ने सरकारी शिक्षकों से अपील की कि वे अपने बच्चों को निजी संस्थानों के बजाय सरकारी संस्थानों में पढ़ाएं।

सीएम एक निजी टेलीविजन चैनल द्वारा विभिन्न श्रेणियों के तहत पुरस्कार जीतने वालों को संबोधित करते हुए शुक्रवार रात बताया कि मैं हाल में एक ग्रामीण स्कूल के दौरे पर गया था और यह जानकर काफी निराश हुआ कि सरकारी स्कूलों के शिक्षक अपने बच्चों को पढ़ाने के लिए निजी स्कूलों को प्राथमिकता देते हैं। सीएम ने कहा कि यह निराशाजनक चलन है। सरकारी स्कूल के शिक्षकों को निजी संस्थानों के बजाय सरकारी स्कूलों का चयन कर दूसरों के लिए मिसाल पेश करनी चाहिए।

उन्होंने दुर्घटना का शिकार हुए लोगों को तत्काल चिकित्सकीय सुविधा के लिए अस्पताल पहुंचाने वाले वालों को 5000 रुपए का नकद इनाम देने की घोषणा के बारे में कहा कि इस कदम को पुडुचेरी ही नहीं, बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सराहा गया है। यह देश में पहली बार है, जब इस प्रकार की व्यवस्था लागू की गई है। पुड्डुचेरी के सीएम वी. नारायणसामी ने विधानसभा में पेश किए गए बजट में इसकी घोषणा की थी। उन्होंने कहा था कि योजना को लागू करने के लिए दिशा निर्देश जल्द ही अधिसूचित किए जाएंगे।

इन्हें बनाया गया पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट का नया मुख्य न्यायाधीश

अब यूपी की जेल बनेंगी हाईटेक, शासन के पास भेजा गया प्रस्ताव

यूपी के बड़े नेताओं के साथ बैठक कर रहीं प्रियंका, हो सकती है विधानसभा उपचुनाव के उम्मीदवारों की घोषणा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -