कोरोना की जांच रिपोर्ट में समय लगने पर हाई कोर्ट में जनहित याचिका की गई दायर

इंदौर : कोरोना मरीजों की रिपोर्ट कई दिन तक नहीं आने और जांच रिपोर्ट में पॉजिटिव पाए जाने वाले मरीजों के नाम-पते नहीं बताने के मामले में हाई कोर्ट में जनहित याचिका दायर हो गई है. इस याचिका में मांग की गई है कि सरकार को आदेश दिया जाए कि कोरोना की जांच रिपोर्ट 48 घंटे के भीतर जारी करे और मेडिकल बुलेटिन में पॉजिटिव मरीजों के नाम-पते सार्वजनिक भी किए जाएं.  

वहीं, हाई कोर्ट में यह जनहित याचिका अमन शर्मा ने एडवोकेट अरिहंतकुमार नाहर के माध्यम से दायर की गयी है. इसमें ये कहा है कि सरकार ने कोरोना को महामारी तो घोषित कर दिया, लेकिन इसके हिसाब से इंतजाम नहीं किए गए है . मरीजों की जांच रिपोर्ट कई दिनों तक नहीं आती. मरीज अस्पताल में डिस्चार्ज होने के लिए इंतजार करते रहते हैं. शासन रोज रात को मेडिकल बुलेटिन जारी करता है लेकिन इसमें मरीजों के नाम-पते तक नहीं होते है. नाम और पते सार्वजनिक कर दिए जाएं तो लोगों को खुद ही पता चल जाएगा कि वे कोरोना संक्रमित के संपर्क में तो नहीं आए थे.

बता दें की याचिका में ये भी कहा गया है कि मरीजों से जुड़े आंकडों को सहेजने का इंतजाम किया जाए ताकि किसी आपात परिस्थिति में इनका इस्तेमाल आगे की रणनीति बनाने में किया जा सके. एडवोकेट नाहर ने बताया कि उन्होंने याचिका के साथ शीघ्र सुनवाई का आवेदन भी लगाया है. याचिका पर इसी सप्ताह सुनवाई होने की उम्मीद है.

मध्य प्रदेश: नर्मदा नहाने पहुंचे तीन बच्चों की डूबने से मौत

सीएम योगी का दावा - अन्य राज्यों से वापस लाए गए यूपी के 6 लाख मजदूर

400 अज्ञात प्रवासी श्रमिकों ने ​भीषण पथराव को दिया अंजाम, पुलिस पर हुआ बड़ा हमला

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -