मनोचिकित्सक और स्वाथ्य मंत्री

एक बार एक स्वास्थ्य मंत्री एक मनोरोगियों के अस्पताल में गया. वह सबसे पहले मुख्य मनोचिकित्सक से मिला फिर उससे पूछने लगा आप कैसे पता लगाते हैं कि एक रोगी बिल्कुल ठीक हो गया है!

मनोचिकित्सक उसे एक कमरे में ले गया जहाँ कुछ रोगी खड़े थे और पास में एक बाथटब पानी से भरा हुआ था मनोचिकित्सक ने कहा, सर हम उन्हें उस बाथटब के पास ले जाते हैं! 

और उन्हें एक चम्मच और एक कप देते हैं, और उन्हें बाथटब खाली करने को कहते हैं.

हाँ मैं देख रहा हूँ! स्वास्थ्य मंत्री ने कहा!

जो बिलकुल ठीक हो जाता है वो तो कप का इस्तेमाल करता होगा ताकि टब जल्दी खाली हो जाए!

मनोचिकित्सक ने कहा, जी नहीं सर!

जो बिलकुल ठीक हो जाता है वो सीधे जाकर इलैक्ट्रिक प्लग दबाता है, जिससे पानी खुद-ब-खुद बाहर चला जाता है!

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -