‘वॉट्सऐप पर मुस्लिम बनने का फायदा बताते हैं प्रोफेसर’, उज्जैन की विक्रम यूनिवर्सिटी में छात्रों ने मचाया हंगामा

‘वॉट्सऐप पर मुस्लिम बनने का फायदा बताते हैं प्रोफेसर’, उज्जैन की विक्रम यूनिवर्सिटी में छात्रों ने मचाया हंगामा
Share:

उज्जैन: मध्य प्रदेश के उज्जैन की विक्रम यूनिवर्सिटी इन दिनों एक विवाद के कारण ख़बरों में है। यहां एक प्रोफेसर पर हिंदू छात्रों को टारगेट करने का आरोप लगा है। साथ ही हिंदू छात्रों को वाट्सऐप ग्रुप में जोड़कर नमाज एवं मुस्लिम बनने के फायदे बताए गए। जिस प्रोफेसर पर आरोप लगा है, वह फार्मेसी विभाग में बतौर गेस्ट फैकेल्टी छात्रों को पढ़ाते हैं। इस बात का पता जैसे ही अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं को लगा, उन्होंने छात्रों के साथ यूनिवर्सिटी में खूब हंगामा किया। साथ ही प्रोफेसर को हटाने की मांग की।

शुक्रवार को ABVP के कार्यकर्ताओं ने फार्मेसी विभाग के मुख्य गेट पर ताला लगा दिया। कार्यकर्ताओं ने इल्जाम लगाया कि फार्मेसी डिपार्टमेंट के प्रोफेसर अनीश शेख छात्रों के साथ भेदभाव करते हैं। प्रोफेसर मुस्लिम छात्रों को केमिस्ट्री में अच्छे नंबर देते हैं, किन्तु हिंदू विद्यार्थियों को कम नंबर देने के साथ फेल भी कर देते हैं। ABVP के कार्यकर्ताओं के अनुसार, कुछ माह पहले वाट्सऐप पर एक ग्रुप बनाया गया था, जिसमें छात्रों को नमाज पढ़ने एवं मुस्लिम बनने के फायदे बताए जा रहे थे। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के महामंत्री आदर्श चौधरी का कहना था कि विद्या के मंदिर में इस तरह धर्म की शिक्षा दिया जाना गलत है।

ABVP के कार्यकर्ताओं ने फार्मेसी डिपार्टर्मेंट के गेट पर ताला लगा दिया। इसकी खबर लगते ही विक्रम यूनिवर्सिटी के कुलपति अखिलेश कुमार पांडे यहां पहुंचे। विद्यार्थियों की शिकायत पर प्रोफेसर शेख को तत्काल प्रभाव से 15 दिन के लिए हटा दिया। उन्होंने कहा कि इस मामले में एक टीम बनाई जाएगी जो कि पूरे मामले की जांच करेगी। यूनिवर्सिटी के कुलपति अखिलेश कुमार ने कहा कि यदि विद्यार्थियों के इल्जाम सही पाए जाते हैं, तो आरोपी प्रोफेसर के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी। साथ ही छात्रों से शांति बनाए रखने की अपील की।

'विधानसभा चुनावों में तस्वीर अलग होगी..', सीट शेयरिंग पर शरद पवार का बड़ा बयान, क्या सहयोगियों को देंगे झटका ?

प्रेमी के साथ गांव से भागी शादीशुदा महिला को गांववालों ने दी तालिबानी सजा, रूह कंपा देने वाला है मामला

कर्नाटक में ही छिपा बैठा था रामेश्वर कैफ़े ब्लास्ट का आरोपी, केंद्रीय एजेंसी ने PFI आतंकी अब्दुल शकूर को दबोचा

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -