J&K में एक साल से तानाशाही जारी, सैफुद्दीन सोज के साथ हो रहा कैदी जैसा सुलूक - प्रियंका गाँधी

J&K में एक साल से तानाशाही जारी, सैफुद्दीन सोज के साथ हो रहा कैदी जैसा सुलूक - प्रियंका गाँधी

लखनऊ: जम्मू कश्मीर के कांग्रेस नेता सैफुद्दीन सोज की कथित नजरबंदी पर सियासी बयानबाज़ी का दौर शुरू हो गया है. कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने अपने आधिकारिक ट्विटर खाते से ट्वीट करते हुए लिखा कि ''सैफुद्दीन सोज साहब ने भारतीय लोकतंत्र की प्रक्रियाओं को मजबूत करने में बड़ी भूमिका निभाई है. उनके साथ कैदी जैसा व्यवहार करके भाजपा सरकार लोकतंत्र को कुचल रही है.''

प्रियंका गांधी वाड्रा ने आगे लिखा कि, 'जम्मू कश्मीर में एक साल से तानाशाही कायम है. मैं सरकार को याद दिलाना चाहती हूं कि भारत एक लोकतंत्रात्मक गणराज्य है.' उल्लेखनीय है कि गत वर्ष 5 अगस्त से ही सैफुद्दीन सोज को घर से बाहर नहीं जाने दिया जा रहा है. वहीं, सैफुद्दीन सोज का कहना है कि उन्हें नजरबंद करके रखा गया है. सैफुद्दीन सोज के बेटे सलमान ने आरोप लगाते हुए कहा है कि सरकार सर्वोच्च अदालत में झूठ बोली है. सैफुद्दीन सोज नजरबंद हैं. हालांकि जम्मू-कश्मीर प्रशासन द्वारा शीर्ष अदालत को सूचित किया गया कि पूर्व केंद्रीय मंत्री के मूमेंट पर कोई बंदिश नहीं है. 

सरकार के प्रवक्ता रोहित कंसल ने कहा कि झूठ बोलने का कोई प्रश्न ही नहीं है और सोज एक स्वतंत्र आदमी हैं. जम्मू-कश्मीर प्रशासन के प्रवक्ता रोहित कंसल ने कहा है कि, 'सैफुद्दीन सोज पूर्व सांसद और मंत्री गिरफ्त में या नजरबंद में नहीं हैं. वह दो दफा अक्टूबर और दिसंबर में दिल्ली जा चुके हैं. जहां भी वह सामान्य सुरक्षा के साथ कहीं भी जा सकते हैं. माननीय शीर्ष अदालत में झूठ बोलने का कोई सवाल ही नहीं है.'

 

चीन मुद्दे पर फिर हमलावर हुए राहुल गाँधी, पीएम मोदी से पुछा- सच क्यों नहीं बोलते ?

बेरुत में धमाके के बाद कई देशों ने बढ़ाया मदद का हाथ

अब पंजाब में ​सियासी जंग प्रारंभ, कांग्रेस के एक और राज्य पर विपक्ष का हमला