मंकीपॉक्स वायरस की जांच के लिए तैयार हुई नई RT-PCR किट

कोरोना वायरस महामारी (Corona Virus) के बीच एक नए वायरस ने लोगों के बीच कोहराम मचा दिया है और अब पूरी दुनिया चिंता में पड़ गई है। इस नए वायरस का नाम मंकीपॉक्स है। जी दरअसल विश्व स्वास्थ्य संगठन ने बीते शुक्रवार को कहा कि, '20 से अधिक देशों में मंकीपॉक्स वायरस (Monkeypox Virus) के करीब 200 मामले सामने आ चुके हैं। भारत में अभी मामला नहीं आया है, लेकिन सरकार अलर्ट मोड पर है।' वहीं आगे यह भी जानकारी दी गई है कि एक चिकित्सा उपकरण कंपनी ने मंकीपॉक्स वायरस (Orthopox virus) का पता लगाने के लिए नई RT-PCR किट लॉन्च की है।

जी हाँ कंपनी की ओर से जारी एक बयान में कहा गया, “ट्रिविट्रॉन हेल्थकेयर की रिसर्च एंड डेवलपमेंट टीम ने मंकीपॉक्स वायरस का पता लगाने के लिए रियल टाइम रिपोर्ट देने वाली आरटी-पीसीआर आधारित किट तैयार की है। ट्रिविट्रॉन का मंकीपॉक्स रियल-टाइम पीसीआर किट चार रंग में तैयार की गई है और हर रंग में एक खास तरह का फ्लेवर यूज किया गया है। इससे सिंगल ट्यूब में स्वैब टेस्ट के जरिए टेस्ट किया जा सकेगा। साथ ही यह किट चेचक और मंकीपॉक्स के बीच अंतर कर सकता है, इस पूरी प्रक्रिया कुल मिलाकर 1 घंटे का समय लगता है।” आप सभी को बता दें कि अर्जेंटीना में मंकीपॉक्स की एंट्री हो गई है। आपको बता दें कि लातिन अमेरिका में पहली बार इस वायरस की मौजूदगी की पुष्टि हुई है।

जी दरअसल अर्जेंटीना ने बीते शुक्रवार को मंकीपॉक्स के पहले मामले की सूचना दी है और इस वायरस से संक्रमित मिला व्यक्ति हाल में स्पेन की यात्रा पर गया था। वहीं विश्व स्वास्थ्य संगठन ने बीते शुक्रवार को कहा कि 20 से अधिक देशों में मंकीपॉक्स के लगभग 200 मामले सामने आए हैं। अगर हम मंकीपॉक्स वायरस के लक्षण के बारे में बात करें तो आमतौर पर बुखार, ठंड लगने, चेहरे या जननांगों पर दाने और घाव का कारण बनता है।

जी हाँ और यह किसी भी संक्रमित व्यक्ति या उसके कपड़ों या चादरों के संपर्क के माध्यम से फैल सकता है, लेकिन अभी तक यौन जनित संक्रमण का दस्तावेजीकरण नहीं किया गया है। आपको बता दें कि वायरस से अधिकतर संक्रमित लोगों को अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत नहीं होती और कुछ हफ्तों के भीतर बीमारी से ठीक हो जाते हैं। चेचक के खिलाफ टीके, मंकीपॉक्स को रोकने में भी प्रभावी हैं और कुछ एंटीवायरल दवाएं विकसित की जा रही हैं।

मंकीपॉक्स के इलाज में फायदेमंद हो सकती है कुछ एंटीवायरल दवाएं!

इस कारण फैला मंकीपॉक्स, WHO एक्सपर्ट ने किया दावा

मंकी पॉक्स ने बढ़ाया खतरा, इस राज्य में जारी हुआ अलर्ट

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -