पुलिस को चकमा दे, अस्पताल से फरार हुआ क़ैदी

रांची: रांची के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स से एक और क़ैदी पुलिस की आँखों में धुल खांक कर फरार हो गया. जरीया कटरमाली नाम का यह क़ैदी  बुधराम उरांव गाँव का निवासी है, जिसके खिलाफ बेड़ो थाने में हत्या के दो मामले और आ‌र्म्स एक्ट का एक मामला दर्ज है. बेड़ो पुलिस के मुताबिक वह कुख्यात अपराधी था, धुर्वा पुलिस ने उसे दबोचकर जेल भेजा था. लेकिन पिछले दिनों जेल में पैर टूट जाने की वजह से उसे रिम्स के सर्जरी वार्ड में भर्ती कराया गया था, जहाँ से वो पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया.

उसके भागने का पता पुलिस को तीन घंटे बाद चला, जब उसकी रखवाली के लिए कमरे के बाहर खड़े हवलदारों से जब डॉक्टर ने क़ैदी को दवाई देने के बारे में पूछा, तब वे क़ैदी को दवाई देने अंदर गए. पर खाली बेड देखकर उनके होश उड़ गए, हवलदारों ने पुरे कमरे में ढूंढा, बाथरूम में भी देखा, लेकिन क़ैदी का कहीं अता-पता नहीं था. हवलदार कार्तिक खड़िया और चामू प्रधान ने पूरा अस्पताल छान मारा लेकिन तब तक टूटे हुए पाँव का क़ैदी फरार हो चुका था. हवाल दरों ने वापिस पहुँच कर थाने में क़ैदी के भाग जाने की रिपोर्ट दर्ज कराइ है. वहीं उनकी इस लापरवाही पर दोनों हवलदारों को कड़ी फटकार भी लगी है. 

पुलिस के मुताबिक कैदी बुधराम उरांव फिल्मी स्टाइल में फरार हुआ है, भागने के लिए योजना बनाई, इसके बाद पूरी तैयारी के साथ भागा है. वह एक दिन पहले अपनी पत्‍‌नी को बुलवाया था, रात में पत्‍‌नी रिम्स में ही थी, सुबह में जांच के नाम पर पत्‍‌नी से ट्रॉली मैन को बुलवाया, इसके बाद इमरजेंसी गेट तक पहुंचने के बाद गायब हो गया.

स्वच्छता सर्वेक्षण में झारखण्ड की रैंकिंग सुधरी

सीएम रघुबर ने दिया 'झामुमो मुक्त झारखण्ड' का नारा

नक्सलियों की संपत्ति सम्बंधित जाँच करेगी एनआइए

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -