3.8 करोड़ घूस के आरोप में खनन विभाग का प्रमुख सचिव गिरफ्तार

Sep 17 2015 10:30 AM
3.8 करोड़ घूस के आरोप में खनन विभाग का प्रमुख सचिव गिरफ्तार

राजस्थान में एक बहुत बड़े ही रिश्वतकांड का खुलासा हुआ है. राज्य के खनन विभाग के प्रमुख सचिव अशोक सिंघवी को तीन करोड़ 85 लाख की रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. एंटी करप्शन ने जयपुर में अशोक सिंघवी को उनके घर से गिरफ्तार किया. इससे पहले करीब 5 घंटे तक एसीबी ने जांच की. खनन विभाग के प्रमुख सचिव अशोक सिंघवी पर आरोप है कि उन्होंने शेरखान नाम के एक व्यक्ति की बंद खानों को एक बार फिर से शुरू करने के लिए 3 करोड़ 85 लाख रुपये की रिश्वत ली है. दरअसल शाम सात बजे के करीब एसीबी की टीम ने अशोक सिंघवी के घर पहुंची और करीब 5 घंटे की पड़ताल और पूछताछ के बाद देर रात करीब 1 बजे अशोक सिंघवी को गिरफ्तार किया गया.

एसीबी के 10 से ज्यादा अफसरों की इस टीम ने अशोक सिंघवी के पुरे घर की तलाशी ली, साथ ही उनका दफ्तर भी खंगाला और इस दौरान कई अहम दस्तावेज भी बरामद किए. 56 साल के अशोक सिंघवी 1983 बैच के आईएएस अधिकारी के पद पर हैं, सिंघवी राजस्थान के खान और पेट्रोलियम विभाग के प्रमुख सचिव के पद पर भी तैनात थे. इससे पहले एसीबी अशोक सिंघवी से पहले खनन विभाग से जुड़े दो अफसरों पंकज गहलोत और पुष्कर आमेटा की गिरफ्तारी भी कर चुकी है. दोनों से 3 करोड़ 85 लाख की रकम जब्त करने की बात कही गई है.

करोड़ों रुपये के इस घूसकांड में खान मालिक शेरखान के अलावा सीए श्याम सुंदर और संजय सेठी की भी गिरफ्तारी हुई. और सभी से पूछताछ भी की गई है.सूत्रों के मुताबिक श्याम सुंदर और संजय सेठी के ठिकानों से एसीबी को लाखों रुपये का कैश भी बरामद हुआ है. यह कैश इतना ज्यादा था कि नोट गिनने की मशीन बुलवानी पड़ी. इस घूसकांड को राजस्थान का सबसे बड़ा घूसकांड कहा जा रहा है. इस मामले में एसीबी ने जयपुर से पहले उदयपुर, भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़ भी छापे मरकर छानबीन की थी.