प्रधानमंत्री की दक्षिण एशियाई सेटेलाइट परियोजना से पाकिस्तान के बाद बांग्लादेश और अफ़ग़ानिस्तान ने किया किनारा

नई दिल्ली: भारतीय प्रधानमंत्री की दक्षिण एशियाई सेटेलाइट परियोजना से पाकिस्तान के बाद अब बांग्लादेश और अफ़ग़ानिस्तान द्वारा भी मुंह फेर लिया गया है. अफ़ग़ानिस्तान ने यूरोपीय देशो से इसके लिए समझौता किया गया है. वही बांग्लादेश जल्द खुद का संचार उपग्रह छोड़ने की तैयारी कर रहा है.

दरअसल जून, 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) को ऐसा सेटेलाइट विकसित करने का आदेश दिया था, जिसे पड़ोसी देशों को उपहार में दिया जा सके. जिसके बाद मोदी द्वारा दक्षिण एशियाई सेटेलाइट परियोजना में शामिल होने के लिए विभिन्न एशिया देशो से बात की गयी थी. 

भारत द्वारा दिसंबर में इस सेटेलाइट को लांच किया जायेगा. जिसका उद्देश्य दक्षिण देशों को दूरसंचार सेवाओं में बेहतरी और आपदा प्रबंधन के क्षेत्र में सुविधाएं प्रदान करना है. इस योजना में श्रीलंका, भूटान, मालदीव और नेपाल भारत के साथ है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -